कोरोना के बहाने हिमाचल में सियासी जमीन तलाश रही 'आप', कहा- दिल्ली मॉडल को अपनाए प्रदेश सरकार

शिमला में बैठक करते आप नेता.
शिमला में बैठक करते आप नेता.

आम आदमी पार्टी ने (AAP) अब हिमाचल (Himachal) में सियासी जमीन तलाशना शुरू कर दिया है. इसके लिए पार्टी कोरोना (Corona) को बहाना बनाकर लोगों की सेवा करने के लिए सामने आ रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 4:06 PM IST
  • Share this:
शिमला. दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी (AAP) अब हिमाचल (Himachal) में सियासी जमीन तलाश कर रही है. रविवार को राजधानी शिमला (Shimla) में आम आदमी पार्टी की एक बैठक हुई. इस बैठक में हिमाचल प्रदेश के प्रभारी रत्नेश गुप्ता और दिल्ली (Delhi) के पटेल नगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक राजकुमार आनंद विशेष रूप से मौजूद रहे.

इस बैठक के बाद आप नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेस कर कोरोना के बहाने जयराम सरकार पर निशाना साधा है. हिमाचल प्रभारी रत्नेश गुप्ता का कहना है कि कोरोना से लड़ाई के लिए जो कदम उठाए जाने चाहिए थे, वो कदम नहीं उठाए गए हैं. हिमाचल सरकार कोरोना टेस्टिंग कम कर रही है. उन्होंने हिमाचल सरकार को केजरीवाल मॉडल को अपनाने की सलाह दी.

95 हजार लोगों का ऑक्सीजन लेवल चेक किया
हिमाचल के प्रभारी ने कहा कि आम आदमी पार्टी के ऑक्सी मित्रों ने प्रदेश के करीब 2200 गांवों में लगभग 95 हजार लोगों के ऑक्सीजन लेवल की जांच की. उन्होंने कहा कि अधिकतर लोगों में ऑक्सीजन लेवल काफी कम पाया गया है, जिससे लग रहा है कि कोरोना काफी जड़े फैला रहा है और सरकार उन तक नहीं पहुंच पा रही है.
चुनाव लड़ने पर फैसला नहीं


सियासी सवाल पर रत्नेश गुप्ता नो कहा कि पार्टी जमीनी स्तर पर कार्य कर रही है. फिलहाल कोरोना से लड़ाई अभी उनकी प्राथमिकता है. आने वाले समय ये तय किया जाएगा कि पार्टी कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी. विधायक राजकुमार आनंद ने कहा कि हर पांच साल बाद सरकार बदलने के क्रम को तोड़ा जाएगा. जनता के सामने आम आदमी पार्टी बेहतर विकल्प है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज