Atal Tunnel Rohtang: PM मोदी के मनाली दौरे से पहले SPG ने डाला डेरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (FILE PHOTO)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (FILE PHOTO)

Atal Rohtang Tunnel: सासे से लेकर सोलंग घाटी तक तीन स्थानों पर लंबी कतारों में पारम्परिक परिधानों में स्थानीय जनता प्रधानमंत्री का स्वागत करेगी.

  • Share this:
कुल्लू. हिमाचल प्रदेश के मनाली (Manali) में समुद्र तल से दस हज़ार फीट की ऊंचाई पर अत्याधुनिक तकनीक से तैयार अटल टनल रोहतांग (Atal Tunnel Rohtang) के उद्घाटन की तैयारियां जोरों पर हैं. 3 अक्तूबर को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narender Modi) अटल टनल रोहतांग को देश को समर्पित करने के लिए मनाली आएंगे. ऐसे में प्रधानमंत्री के मनाली दौरे को लेकर जिला प्रशासन भी अपनी तैयारियों में जुट गया है. सोमवार शाम को मनाली में उपायुक्त कुल्लू ने सभी प्रशासनिक अधिकारियों संग बैठक की. वहीं. एसपीजी ने भी मनाली मे डेरा डाल लिया है.

सख्त नजर आईं डीसी कुल्लू
उपायुक्त डॉ. ऋचा वर्मा ने बैठक में कुछ अधिकारियों की नदारदगी पर कड़े तेवर अपनाते हुए कहा कि सभी को सौंपी गई जिम्मेवारी का ईमानदारी के साथ निर्वहन करना चाहिए. डॉ. ऋचा वर्मा ने कहा कि जिला के लिए यह गौरव की बात है कि देश के प्रधानमंत्री मनाली आ रहे हैं और अत्याधुनिक व सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण अटल टनल रोहतांग को देश को समर्पित कर रहे हैं. सभी अधिकारियों को प्रधानमंत्री की मेजबानी करने का सुनहरा मौका मिला है. इस बात को ध्यान में रखकर सभी विशिष्टजनों का जिला का प्रवास आरामदायी व सुविधाजनक सुनिश्चित बनाने के लिए काम करना चाहिए. उन्होंने कहा कि जिला से बाहरी क्षेत्रों को एक अच्छा संदेश जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खतरे के बीच सभी को बहुत सी एहतियात भी बरतनी है. सभी प्रकार के प्रबंध सामाजिक दूरी का पालन करते हुए तथा मास्क व सेनेटाईजर का समुचित उपयोग करते हुए करने हैं.

हिमाचल प्रदेश के मनाली में समुद्र तल से करीब दस हजार फीट की ऊंचाई पर अटल टनल रोहतांग बनकर तैयार हो चुकी है. तीन अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अटल टनल का उद्घाटन करेंगे. प्रदेश के तकनीकी शिक्षा एवं जनजातीय विकास मंत्री डॉ. राम लाल मार्कंडेय ने मनाली में पत्रकारों से बात करते हुये इस बात की जानकारी दी.
हिमाचल प्रदेश के मनाली में समुद्र तल से करीब दस हजार फीट की ऊंचाई पर अटल टनल रोहतांग बनकर तैयार हो चुकी है.

कमेटियों को सौंपी जिम्मेदारी


उपायुक्त ने बैठक में विशिष्ट अतिथियों के स्वागत व सुविधा के लिए गठित अलग-अलग समितियों के सदस्यों को उन्हें सौंपी गई प्रत्येक जिम्मेवारी पर विस्तारपूर्वक चर्चा की और अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने कार्य को सौ फीसदी तवज्जो प्रदान करें. बैठक में विभिन्न विभागों के जिला व उपमण्डलस्तरीय अधिकारियों ने भाग लिया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के दौरे के चलते जिला का कोई भी अधिकारी बीना अनुमति के स्टेशन नहीं छोड़ेगा. यदि कोई अधिकारी बीना अनुमति के स्टेशन छोड़ता है तो ऐसा करने पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी.

सोलंग नाला पहुंची डीसी
बैठक के उपरांतडीसी ने अधिकारियों सहित सोंलग नाला में जाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अभिनंदन समारोह की तैयारियों का जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने सोलंग मैदान में निर्मित किए जा रहे मुख्य स्टेज व विशिष्ट अतिथियों व दर्शकों के अलग-अलग एनक्लोजर्ज का भी बारीकी से निरीक्षण किया. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि रैली में भाग लेने वाले सभी अतिथियों व आम लोगों के लिए बैठने की समुचित सुविधा प्रदान की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के स्वागत में मुख्यमार्ग पर तथा सोलंग मैदान में होर्डिंग्ज भी स्थापित किए जा रहे हैं. इसके अलावा, सासे से लेकर सोलंग घाटी तक तीन स्थानों पर लंबी कतारों में पारम्परिक परिधानों में स्थानीय जनता प्रधानमंत्री का स्वागत करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज