होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

VIDEO: मनाली में ब्यास नदी में पुल टूटने से बहे 2 किशोरों के शव बरामद, एक की आधी तो दूसरे की पूरी डेडबॉडी मिली

VIDEO: मनाली में ब्यास नदी में पुल टूटने से बहे 2 किशोरों के शव बरामद, एक की आधी तो दूसरे की पूरी डेडबॉडी मिली

मनाली में ब्यास नदी से दोनों किशोरों के शव मिल गए हैं.

मनाली में ब्यास नदी से दोनों किशोरों के शव मिल गए हैं.

Manali Beas River Bridge Collapse: सोलंग गाव के ग्रामीण पिछले करीब सात साल से पुल का जल्द निर्माण करवाने की मांग कर रहे हैं. मजबूर ग्रामीण चुनावों का बहिष्कार भी कर चुके हैं, लेकिन किसी के कान पर कोई जूं नहीं रेंग रही. ग्रामीण लकड़ी के बने अस्थायी पुल से आने-जाने के लिए मजबूर हैं. आज यदि यहां पक्का पुल होता तो यह हादसा नहीं होता.

अधिक पढ़ें ...

मनाली. हिमाचल प्रदेश के मनाली में सोमवार को ब्यास नदी में बहे दोनों बच्चों के शव बरामद हो गए. घटना स्थल से कुछ दूर ये शव मिले हैं. हालांकि, एक बच्चे का आधा शव ही बरामद हुआ है. रेस्क्यू टीम ने मंगलवार सुबह सर्च ऑपरेशन चलाया था और दोनों के शवों को ब्यास नदी में से निकाला है. ये शव पत्थरों के बीच में फंसे हुए थे.

जानकारी के अनुसार, सोमवार देर शाम को मनाली के सोलंग गांव में एक अस्थाई पुल टूट गया था और ऊपर से गुजर से दोनों किशोर ब्यास नदी में बह गए. मंगलवार सुबह रेस्क्यू टीम ने तलाश शुरू की तो एक बच्चे का पूरा तथा एक बच्चे का का आधा शव बरामद हुआ.  इससे पहले, सोमवार देर शाम को अंधेरा होने के कारण सर्च अभियान रोकना पड़ा था. मंगलवार सुबह भी मनाली और आसपास के इलाकों में रुक रुक कर बारिश हो रही है. प्रशासन ने लोगों और टूरिस्ट से नदी नाले के पास ना जाने की अपील की है.

दरअसल, सोलंग गांव में आजकल सराणी मेला लगा हुआ है. घाटी के लोग मेले का जश्न मनाने के लिए यहां आए हुए थे. सोमवार दोपहर बाद नदी में पानी का जलस्तर बढने से पुल इसकी चपेट में आ गया और दो किशोर नदी में बह गए. नदी में बहे युवकों की पहचान 15 वर्षीय कृष्ण कुमार गांव घोषाल और 17 वर्षीय राहुल गांव बटाहर के तौर पर हुई है. दोनों को सोमवार देर शाम तक कुछ पता नहीं चल पाया था. अब दोनों के शव मिले हैं.

सात साल से पुलिस का इंतजार

सोलंग गाव के ग्रामीण पिछले करीब सात साल से पुल का जल्द निर्माण करवाने की मांग कर रहे हैं. मजबूर ग्रामीण चुनावों का बहिष्कार भी कर चुके हैं, लेकिन किसी के कान पर कोई जूं नहीं रेंग रही. ग्रामीण लकड़ी के बने अस्थायी पुल से आने-जाने के लिए मजबूर हैं. आज यदि यहां पक्का पुल होता तो यह हादसा नहीं होता.

Tags: Heavy rain and cloudburst, Kullu Manali, Manali news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर