होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

सोलंग में पुल बहा, संपर्क कटा, दो बच्चों के नदी में बहने की पुष्टि, नहीं मिला शव

सोलंग में पुल बहा, संपर्क कटा, दो बच्चों के नदी में बहने की पुष्टि, नहीं मिला शव

मनाली के आसपास के इलाकों में हुई बारिश के बाद नदी नालों के जलस्तर में तेजी से इजाफा हुआ है. (फाइल फोटो)

मनाली के आसपास के इलाकों में हुई बारिश के बाद नदी नालों के जलस्तर में तेजी से इजाफा हुआ है. (फाइल फोटो)

Bridge swept away in Manali: दोनों बच्चों की पहचान हो गई है लेकिन उनके शव फिलहाल नहीं मिले हैं. वहीं पुलिस व प्रशासन की टीम मौके पर राहत व बचाव कार्य चला रही है.

मनाली. मनाली के सोलंग को जोड़ने वाला एकमात्र अस्‍थायी पुल भी ब्यास नदी में पानी का बहाव बढ़ने के चलते टूट गया. हादसा सोमवार दोपहर करीब 3.30 बजे हुआ जब सोलंग में लगे मेले से कुछ लोग देवता की प्रतिमा लेकर मनाली की तरफ आ रहे थे. इसी दौरान अचानक पानी का तेज बहाव आया और पुलिस को ताश के पत्तों की तरह बिखेर दिया.
हादसे में दो बच्चों के बह जाने की खबर है, जिनकी पहचान ‌घोषाल गांव का 13 वर्षीय कृष्‍ण कुमार और हरिपुर गांव का 14 साल के राहुल के तौर पर हुई है. हालांकि अभी तक नदी की चपेट में आए दोनों की बच्चों के शव नहीं मिल सके हैं. और स्‍थानीय लोगों के साथ ही पुलिस व प्रशासन की टीम ने सर्च अभियान चलाया हुआ है. साथ ही गांव के लिए एक अस्‍थायी पुल का निर्माण भी जल्द ही करवाने की बात कही जा रही है.

गौरतलब है कि सोलंग गांव में सोमवार को मेले का आयोजन किया गया था और आसपास के इलाकों से भी बड़ी संख्या में लोग यहां पर आए हुए थे. हादसे के दौरान पुल पर और पुल के आसपास भी बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे. कुछ लोगों का कहना है कि दो बच्चों के साथ ही अन्य भी कई लोग नदी के तेज बहाव में बह गए हैं लेकिन इस बात की अभी पुष्टि नहीं हो सकी है.

7 साल से हो रहा निर्माण
उल्लेखनीय है कि मनाली के सोलंग गांव को अन्य इलाकों से जोड़ने के लिए एक स्‍थायी पुल का निर्माण पिछले 7 सालों से किया जा रहा है लेकिन अभी तक पूरा नहीं हो सका है. इस दौरान एक अस्‍थायी पुल का उपयोग ग्रामीण किया करते थे जो भी सोमवार को बह गया. अब सोलंग गांव का संपर्क पूरी तरह से टूट चुका है. ऐसे में ग्रामीणों को डर है कि किसी भी आपात स्थिति में वे फंस कर रह गए हैं. वहीं घाटी में लगातार हो रही बारिश से नदी नालों का जलस्तर बढ़ गया है और कई इलाकों में खतरा बढ़ गया है.

Tags: Himachal news, Manali news

अगली ख़बर