लाइव टीवी

रोहतांग पास को बहाल करने में जुटे BRO के जवान, शून्य से नीचे के तापमान में कर रहे काम

Sachin Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 1, 2019, 11:36 AM IST
रोहतांग पास को बहाल करने में जुटे BRO के जवान, शून्य से नीचे के तापमान में कर रहे काम
मनाली - मौसम ने साथ दिया तो जल्द ही बहाल हो जाएगा रोहतांग दर्रा

बीआरओ के जवान दिन रात शून्य से नीचे के तापमान (Temperature below zero degree) में अपनी जान की परवाह किए बगैर रोहतांग दर्रे (Rohtang Pass) को बहाल करने में जुटे हैं ताकि जल्द से जल्द से जिला लाहौल स्पीति (Lahaul Spiti) को सड़क मार्ग से जोड़ा जा सके.

  • Share this:
मनाली. बीते दिनों घाटी में हुई भारी बर्फबारी (Heavy Snowfall) से बंद पड़े विश्व विख्यात रोहतांग दर्रे (Rohtang Pass) को बहाल करने के लिए एक बार फिर बीआरओ (BRO) के जवानों ने कमर कस ली है. बीआरओ के जवानों ने आज सुबह ही घाटी में मौसम के साफ होते ही रोहतांग बहाली का कार्य आरम्भ कर दिया. उम्मीद जताई जा रही है कि यदि मौसम ने साथ दिया तो जल्द ही रोहतांग दर्रा वाहनों की आवाजाही के लिए बहाल हो जाएगा. बीआरओ के जवान दिन रात शून्य से नीचे के तापमान (Temperature below zero degree) में अपनी जान की परवाह किए बगैर रोहतांग दर्रे को बहाल करने में जुटे हैं ताकि जल्द से जल्द से जिला लाहौल स्पीति को सड़क मार्ग से जोड़ा जा सके.

रोहतांग दर्रे की बहाली हो जाने के बाद आर-पार फंसे लोग आसानी से अपने गंतव्य तक पहुंच सकेंगे.


4 फीट तक के बर्फ को हटाने का काम चुनौतीपूर्ण

रोहतांग दर्रे की बहाली हो जाने के बाद आर-पार फंसे लोग आसानी से अपने गंतव्य तक पहुंच सकेंगे. हालांकि चार फिट से अधिक बर्फ को हटाने का काम चुनौतीपूर्ण है. बता दें कि बीआरओ के जवानों ने अब तक इस सीजन में चार बार रोहतांग दर्रे को को बहाल किया है. यह पांचवा अवसर है जब बीआरओ की टीम रोहतांग बहाली के कार्य में जुट गई है.

ये भी पढ़ें - हिमाचल: पुलिस ने युवकों पर बरसाया था डंडा, एक SHO समेत 3 पुलिसकर्मी सस्पेंड

ये भी पढ़ें - हिमाचल : IGMC में हुई पहली बेरियाट्रिक सर्जरी, CM जयराम ठाकुर भी बने गवाह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनाली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 11:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...