नलों से आ रहा मटमैला पानी, ग्रामीणों को एसडीएम से मिला निराकरण का आश्वासन

मनाली से लगे गांवों के नलों से मटमैला पानी आने के कारण ग्रामीणों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

Sachin Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 26, 2019, 6:36 AM IST
नलों से आ रहा मटमैला पानी, ग्रामीणों को एसडीएम से मिला निराकरण का आश्वासन
मनाली - गांव में लगे नलों में नही आ रहा पीने योग्य पानी.
Sachin Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 26, 2019, 6:36 AM IST
बरसात का मौसम आते ही पर्यटन नगरी मनाली से लगे गांवों में ग्रामीणों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. ग्रामीणों की दिक्कतों का कारण है गांव के नलों में पिछले एक सप्ताह से पीने योग्य पानी की आपूर्ति का नहीं होना. गांव के नलों से मटमैला पानी  आने के कारण ग्रामीणों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. अपनी इसी समस्या को लेकर मनाली शहर के साथ लगे गांव अलेउ , झाडंग एक और झाडंग दो गांव के लोगों ने गांव में पानी की समस्या को लेकर आईपीएच विभाग और मनाली एसडीएम से मुलाकाल की और उन्हें अपनी समस्या से अवगत कराया.

ऐसा पानी पीने से बीमार पड़ जाएंगे ग्रामीण 

मनाली एसडीएम और आईपीएच विभाग ने समस्या के जल्द निराकरण का आश्वासन दिया.


इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए गांववासी सुदर्शना और मेहर ने बताया कि उनके गांव में पिछले एक सप्ताह से पीने के पानी की समस्या चली आ रही है. इस कारण गांववासियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. गांव वासियों का कहना है कि उनके नल में जो पानी आ रहा है वह पूरी तरह से मटमैला और पीने योग्य नहीं है. इसे पीने से बीमार पड़ना निश्चित है. वहीं मनाली एसडीएम और आईपीएच विभाग ने समस्या के जल्द निराकरण का आश्वासन दिया.

मनाली एसडीएम ने कहा कि कुछ ग्रामीण अपनी समस्याओं को लेकर उनसे मिलने आए थे. उन्होंने कहा कि गांवासियों के अनुसार उनके घरों में मटमैला पानी आ रहा है और वह बिल्कुल ही पीने योग्य नहीं है. उन्होंने कहा कि आईपीएच विभाग को आदेश दिए गए हैं कि वे गांव वासियों की समस्या का समाधान जल्द से जल्द करें.

ये भी पढ़ें - नशे के कारोबारी दो युवक चढ़े पुलिस के हत्थे, चिट्टा बरामद

ये भी देखें - न्यायाधीश के खिलाफ वकीलों की नारेबाजी से गूंज उठा HC परिसर
Loading...

 
First published: July 26, 2019, 6:36 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...