हिमाचल: COVID-19 प्रोटोकॉल का धड़ल्‍ले से धज्जियां उड़ा रहे पर्यटक, अब तक 50 से चालान, 7 गिरफ्तार

पुलिस ने 50 व्यक्तियों से 82500 रुपये का जुर्माना वसूला है. इनमें से अधिकांश लोग पर्यटक हैं. (सांकेतिक फोटो)

पुलिस ने 50 व्यक्तियों से 82500 रुपये का जुर्माना वसूला है. इनमें से अधिकांश लोग पर्यटक हैं. (सांकेतिक फोटो)

कुल्लू जिला के एसपी गौरव सिंह (SP Gaurav Singh) ने बताया कि पुलिस ने 50 व्यक्तियों से कोविड-19 के नियमों का उल्लंखन करने के आरोप में जुर्माना भी वसूला है.

  • Share this:

मनाली. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मनाली (Manali) में एक बड़ी खबर सामने आई है. यहां पर पुलिस ने सार्वजनिक स्थानों पर उपद्रव करने के आरोप में कई लोगों को गिरफ्तार (Arrest) किया है. इनमें कई उपद्रवियों को पुलिस ने अदालत में पेश भी किया है. वहीं, इस घटना से आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई है. जानकारी के मुताबिक, पुलिस की पेट्रोलिंग टीम ने पिछले 24 घंटे में 7 अराजक तत्वों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इन सभी आरोपियों को सोमवर को अदालत में पेश किया है.

वहीं, कुल्लू जिला के एसपी गौरव सिंह ने बताया कि पुलिस ने 50 व्यक्तियों से कोविड-19 के नियमों का उल्लंखन करने के आरोप में जुर्माना भी वसूला है. स्थानीय थाना पुलिस के मुताबिक, पुलिस ने 50 व्यक्तियों से 82500 रुपये का जुर्माना वसूला है. इनमें से अधिकांश लोग पर्यटक हैं.


Youtube Video

कुलभूषण वर्मा ने मामले की पुष्टि की थी

बता दें कि बीते 25 दिसंबर को मंडी जिला के सुंदरनगर में विजिलेंस टीम मंडी ने एक पटवारी को 2500 रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था. सुंदरनगर के कलौहड़ पटवार सर्कल में यह आरोपी तैनात था. ग्रामीण राजस्व अधिकारी दिलीप सिंह को 2500 रुपये लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया था. आरोपी पटवारी को शुक्रवार को जिला एवं सेशन कोर्ट के स्पेशल न्यायालय के समक्ष पेश किया गया था. विजीलेंस मंडी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कुलभूषण वर्मा ने मामले की पुष्टि की थी.

2500 रुपये का भुगतान करना था



विजीलेंस मंडी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कुलभूषण वर्मा ने बताया था कि कलौहड़ पटवारी के खिलाफ सुंदरनगर के बनायक निवासी पवन कुमार ने रिश्वत की मांग करने को लेकर रिकॉर्डिंग और लिखित शिकायत की गई थी. आरोपी पटवारी ने शिकायतकर्ता से बीणा में जमीन की खरीदने के लिए ततीमा जारी करने के 3 हजार रुपये मांगे थे. शिकायतकर्ता ने पहली किश्त के तौर पर आरोपी को 500 रुपये दे दिए थे. बाकी बचे हुए 2500 रुपये का भुगतान करना था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज