लाइव टीवी

दिल्ली-NCR में Air Pollution के चलते हिमाचल टूरिज्म की बल्ले-बल्ले, मनाली-कुल्लू में होटल फुल!

News18 Himachal Pradesh
Updated: November 5, 2019, 6:37 PM IST
दिल्ली-NCR में Air Pollution के चलते हिमाचल टूरिज्म की बल्ले-बल्ले, मनाली-कुल्लू में होटल फुल!
टूरिस्ट व्हीकल की संख्या 1-4 नवंबर 2018 के बीच 742 व्हीकल थी जो इस साल की इसी अवधि में बढ़कर 2366 हो गई.

दिल्ली और आसपास (Delhi and Ncr) के राज्यों में वायु प्रदूषण (Air Pollution) से परेशान हो रहे लोगों ने हिमाचल (Himachal) की शरण ली. यहां होटलों (Hotel) में जगह नहीं मिल रही है और सड़कों पर गाड़ियों की भीड़ बढ़ी है.

  • Share this:
मनाली. पिछले कुछ दिनों से दिल्ली (DELHI), एनसीआर (NCR) क्षेत्र, हरियाणा और पंजाब में स्मॉग का कहर जारी है. वायु प्रदूषण का स्तर लोगों के लिए आफत बना हुआ है. यहां लोगों को आंखों में जलन, सांस संबंधी बीमारी और त्वचा संबंधी शिकायतें हो रही हैं. यही वजह है कि दिल्ली और आसपास के राज्यों से लोग पहाड़ों में खुली हवा में सांस लेने के लिए रुख कर रहे हैं. इसके चलते पहाड़ों में पर्यटकों का जमावड़ा लग रहा है.

होटल में नहीं मिल रही जगह, सड़कों पर बढ़े टूरिस्ट व्हीकल
शिमला, मनाली, कुल्लू में पर्यटकों की संख्या में अचानक से बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है. इस समय कुल्लू, मनाली और शिमला के होटलों में करीब 90 फीसदी होटल सैलानियों से भरे हुए हैं. मनाली में अक्टूबर 2018 में टूरिटस्ट व्हीकल की संख्या 6,851 रही थी, जबकि अक्टूबर 2019 में यह संख्या करीब 11,865 थी. टूरिस्ट व्हीकल की संख्या 1-4 नवंबर 2018 के बीच 742 व्हीकल थी, जो इस साल की इसी अवधि में अप्रत्याशित रूप से बढ़कर 2366 हो गई.



'दिल्ली में सांस लेना भी मुश्किल हो गया है'
दिल्ली से पहुंचे मनोज कुमार ने बताया कि दिल्ली सहित मैदानी राज्यों में जहां पराली के धुएं और पटाखों और गाड़ियों के प्रदूषण के कारण सांस लेना मुश्किल होता जा रहा था. यही वजह है कि मैं और मेरा पूरा परिवार मनाली आए हैं. उन्होंने बताया कि हमारे बच्चों के स्कूलों में छुट्टी हो गई है इसलिए अभी बच्चों का घूमना भी हो जाएगा और कुछ दिन खुली हवा में सांस भी ले पाएंगे.

'प्रदूषण से बचने के लिए हम हिमाचल आ गए हैं'
Loading...

किन्नौर और रोहतांग में पिछले दिनों हुई बर्फबारी के चलते मौसम बहुत ही सुहावना हो गया है. पंजाब से रोहतांग पहुंचे हरजीत सिंह ने कहा कि पर्यटक यहां पर हाल ही के दिनों में हुई ताजा बर्फबारी का मजा लेने के लिए हम पंहुचे हैं. प्रदूषण का असर पंजाब में भी काफी ज्यादा है और हमें चंडीगढ़ में भी सांस लेने में दिक्कत महसूस हो रही थी. घर से बाहर निकलने पर आंखों में जलन पैदा होने लगती है. हमें यही सूझा कि कुछ दिन ही सही प्रदूषण से हिमाचल जाकर बचा जा सकता है.

यह भी पढ़ें: शिमला में बंदरों का शिकार हुआ गुजराती शख्स, कहीं नहीं मिला एंटी रेबीज इंजेक्शन

कुल्लू पुलिस ने दो अलग-अलग मामलों में करीब 5 किलो चरस जब्त किया, तीन गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गाजियाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 5:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...