कुल्लू के बाद अब मनाली में भी इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम, नियम तोड़े तो घर पहुंचेगा चालान

मनाली में अब ट्रैपिक रूल्स तोड़ने पर चालान घर भेज दिया जाएगा.
मनाली में अब ट्रैपिक रूल्स तोड़ने पर चालान घर भेज दिया जाएगा.

एसपी कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कि कुल्लू पुलिस ने 'मिशन ज़ीरो' के अन्तर्गत मनाली शहर में यातायात व्यवस्था को सुदृढ बनाने के लिए इस सिस्टम (Intelligent Traffic Management System) की शुरुआत की है.

  • Share this:
मनाली. हिमाचल प्रदेश की पर्यटन नगरी मनाली में अब ट्रैफिक नियमों (Traffic rules) का उल्लंघन करने वालों की खैर नहीं. मनाली शहर की ट्रैफिक व्यवस्था के लिए कुल्लू पुलिस द्वारा करीब 25 लाख रुपए की लागत से इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (Intelligent Traffic Management System) और ट्रैफिक कंट्रोल रूम तैयार किया गया है. जिसका उद्घाटन शिक्षा एवं संस्कृति मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर (Govind Singh Thakur) के द्वारा ऑनलाइन किया गया. इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम प्रदेश में कुल्लू के बाद अब मनाली शहर में स्थापित किया गया है.

एसपी कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कि कुल्लू पुलिस ने 'मिशन ज़ीरो' के अन्तर्गत मनाली शहर में यातायात व्यवस्था को सुदृढ करने के लिए व यातायात नियमों के पालन को बढ़ाने के लिए इस सिस्टम की शुरुआत की है. जिसमें मनाली शहर के अंदर ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर चालान भरना पड़ेगा.

दरअसल ट्रैफिक पोस्ट पर लगे सीसीटीवी कैमरे द्वारा वाहन के नंबर प्लेट को रीड कर चालक द्वारा किए गए ट्रैफिक वॉयलेशन को रिकॉर्ड कर उसका फोटो कंट्रोल रूम भेजा जाएगा. जहां से चालान बनकर चालक के पते पर भेज दिया जाएगा. चालक को मनाली थाना या ट्रैफिक कंट्रोल रूम में चालान का भुगतान करना पड़ेगा. सात दिन के अंदर भुगतान नहीं करने पर चालान न्यायालय में भेज दिया जाएगा.



एसपी कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कि शुरुआत के 15 दिनों में इस नए सिस्टम को लेकर जागरुकता के लिए इंटेंसिव कैंपेन चलाए जाएंगे. ट्रैफिक वॉयलेशनस जैसे ओवरस्पीड, बिना हेलमेट, ट्रिपल राइडिंग, बिना सीटबेल्ट इत्यादि पर ज्यादा ध्यान दिया जाएगा.
उन्होंने कहा कि किसी भी शहर की ट्रैफिक व्यवस्था वहां के सिविक ट्रैफिक सेंस को प्रदर्शित करती है. इसलिए कुल्लू पुलिस का सभी जिम्मेदार चालकों से अनुरोध है कि वे यातायात नियमों का पालन करके अपने शहर को ट्रैफिक चालान मुक्त शहर बनाने में अपना सहयोग दें. और शहर में अनुशासित ट्रैफिक चलाने में भागीदारी निभाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज