VIDEO: 16000 फीट ऊंचाई, -25 डिग्री तापमान, बारलाचा में फंसे लोगों के लिए फरिश्ता बना BRO

बारलाचा पास से बीआरओ की टीम ने रेस्क्यू किए लोग.

बारलाचा पास से बीआरओ की टीम ने रेस्क्यू किए लोग.

Barlacha Pass Rescue Operation: बीआरओ के जवानों ने जान जोखिम में डाल रेस्क्यू अभियान जारी रखा तथा सुबह पांच बजे बीआरओ का रेस्क्यू ऑपरेशन सफल रहा और 87 लोगों में दो महिलाएं और चार बच्चे शामिल थे, सभी को जिंगजिंगबार कैम्प पहुंचाया

  • Share this:
मनाली. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू के मनाली (Manali) और जिला लाहौल स्पीति में लगातार हो रही बर्फबारी के कारण लेह नेशनल हाईवे वाहनों की आवाजाही के लिए बाधित है. बर्फबारी और खराब मौसम के चलते लाहौल स्पीति के बारलाचला दर्रा (Barlacha Pass) और जिंगजिंग बार में कई वाहन फंस गए थे. इन वाहनों में बड़ी संख्या में पुरुष, महिलांए और बच्चे शामिल थे. ऐसे में बारलाचला दर्रे में भारी बर्फबारी और बर्फ़ीली हवाओं का सामना करते हुए जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे करीब 87 लोगों के लिए बीआरओ फरिश्ता बनकर आया है. बीआरओ की टीम ने दर्रे में फंसे लोगों को सुरक्षित निकाला है.

Youtube Video


क्या बोले कंमाडर उमाशंकर

बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर ने बताया कि मंगलवार सुबह दारचा से निकले डेढ़ सौ के करीब ट्रक चालक तो बीआरओ व लाहुल स्पीति पुलिस की मदद से सुरक्षित सरचू पहुंच गए, लेकिन दोपहर बार दारचा से लेह के लिये रवाना हुए 40 के लगभग ट्रक व छोटे वाहन भारी बर्फबारी शुरू होने से बारालाचा में ही फंस गए. उन्होंने कहा कि दर्रे में 20 से ज्यादा ट्रक, 2 टेम्पो ट्रैवर्लर 2 जायलो और 1 जिप्सी और 1 स्विफ्ट गाडी फंसी हुई थी. इनमें पुरुष और महिलाओं के साथ बच्चे भी थे. भारी बर्फबारी के कारण रात को रेस्क्यू कार्य रोकना रोकना पड़ा. दो असफल प्रयासों के बाद बीआरओ ने बुधवार शाम को चार बजे के करीब रेक्सयू ऑपरेशन शुरु किया.
जान जोखिम में डाली

बीआरओ के जवानों ने जान जोखिम में डाल रेस्क्यू अभियान जारी रखा तथा सुबह पांच बजे बीआरओ का रेस्क्यू ऑपरेशन सफल रहा और 87 लोगों में दो महिलाएं और चार बच्चे शामिल थे, सभी को जिंगजिंगबार कैम्प पहुंचाया. रेस्कयू लोगों में से दो लोगों की हालत के खराब है, जिन्हें प्राथमिकी उपचार दिया गया है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज