Atal Rohtang Tunnel: टनल के एक छोर पर 500 करोड़ से बनेगी महात्मा बुद्ध की प्रतिमा

अटल टनल के एक छोर पर प्रतिमा का निर्माण होगा.
अटल टनल के एक छोर पर प्रतिमा का निर्माण होगा.

Mahtma Budha Statue at Atal Rohtang Tunnel: पीरपंजाल की पहाड़ी पर अफगानिस्तान के बामियान की तर्ज पर भगवान बुद्ध की 328 फीट (100 मीटर) ऊंची प्रतिमा बनेगी. इस पर करीब 500 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 2, 2020, 2:30 PM IST
  • Share this:
मनाली. हिमाचल प्रदेश की पर्यटन नगरी मनाली स्थित अटल टनल रोहतांग (Atal Tunnel Rohtang) के उत्तरी पोर्टल में पीर पंजाल की पहाड़ी में जल्द ही सैलानियों को देश की सबसे ऊंची भगवान बुद्ध का प्रतिमा देखेने को मिलेगी.

पीएम मोदी करेंगे ऐलान
बताया जा रहा है कि 3200 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित टनल के बाद अब पीएम नरेंद्र मोदी लाहौल वासियों को करीब 500 करोड़ रुपये की एक और बड़ी परियोजना की सौगात देंगे. टनल के नॉर्थ पोर्टल से कुछ ही दूरी पर पीरपंजाल की पहाड़ी पर अफगानिस्तान के बामियान की तर्ज पर भगवान बुद्ध की 328 फीट (100 मीटर) ऊंची प्रतिमा बनेगी. इस पर करीब 500 करोड़ रुपये खर्च होंगे. इस प्रोजेक्ट को खुद प्रधानमंत्री सहमति दे चुके हैं. हिमाचल सरकार के इस प्रस्ताव को केंद्र सरकार ने अपनी मंजूरी दे दी है. सीएम जयराम ठाकुर ने इस बाबत कहा कि केंद्र को प्रस्ताव भेजा गया है. जल्द ही इसे अमलीजामा पहनाया जाएगा.

Atal Tunnel, rohtang
अटल टनल रोहतांग.

कैसे होगा निर्माण


केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय की देखरेख में गुजरात की एक निजी फर्म प्रतिमा का निर्माण करेगी. लाहौल के सिस्सू गांव के विख्यात वाटर फॉल के पास पीरपंजाल की पहाड़ी को कुरेद कर बुद्ध प्रतिमा बनाई जाएगी. हजारों साल पहले अफगानिस्तान के बामियान में बुद्ध की प्रतिमा बनाने के लिए जिस कार्विंग तकनीक का इस्तेमाल किया गया था. उसी तर्ज पर लाहौल में प्रतिमा बनेगी. पहाड़ के एक हिस्से को पहले समतल किया जाएगा, फिर रॉक कार्विंग तकनीक से भगवान की प्रतिमा उकेरी जाएगी. इससे जनजातीय इलाके में टूरिज्म को संजीवनी मिलेगी. सिस्सू में जनसभा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रतिमा के प्रस्तावित स्थान को दिखाया जाएगा. पहाड़ के जिस हिस्से में प्रतिमा का निर्माण होना है, ठीक उसके वामतट पर प्रधानमंत्री की जनसभा होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज