होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

मनाली पुल हादसाः PWD के जेई को जूतों की माला पहनाने पर सोलंग के ग्रामीणों के खिलाफ FIR दर्ज

मनाली पुल हादसाः PWD के जेई को जूतों की माला पहनाने पर सोलंग के ग्रामीणों के खिलाफ FIR दर्ज

पुल के बहने का वीडियो भी सामने आया था. साथ ही जेई को जूतों की माला और झुला पुल पर लटकाए हुए वीडियो भी वायरल हुए हैं.

पुल के बहने का वीडियो भी सामने आया था. साथ ही जेई को जूतों की माला और झुला पुल पर लटकाए हुए वीडियो भी वायरल हुए हैं.

Manali Bridge Accident: दरअसल, मनाली के सोलंग गांव में 15 अगस्त के दिन भारी बारिश के बाद गांव को जाने वाला अस्थाई पुल बह गया था. इस पुल से गुजरे रहे दो किशोर भी ब्यास में बह गए थे और उनकी मौत हो गई थी. इस मामलों को लेकर काफी विवाद हुआ था,

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

मनाली के सोलंग गांव में 15 अगस्त के दिन भारी बारिश के बाद गांव को जाने वाला अस्थाई पुल बह गया था.
इस पुल से गुजरे रहे दो किशोर भी ब्यास में बह गए थे और उनकी मौत हो गई थी.
इस मामलो को लेकर काफी विवाद हुआ था.

मनाली. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के मनाली के सोलंग में लोक निर्माण विभाग के जेई को जूतों की माला पहनाने और तीन घंटे तक झूला पुल पर लटकाए रखने और बदसलूकी करने के मामले में पुलिस ने ग्रामीणों के खिलाफ केस दर्ज किया है. पुलिस ने कनिष्ठ अभियंता की शिकायत के पर विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है.

दूसरी ओर ग्रामीणों ने पहले ही दोनों अधिकारियों के खिलाफ एसडीएम मनाली को शिकायत पत्र देकर झूले की रस्सी बीच नदी में जाकर निकालने के आरोप लगाए थे. मनाली के डीएसपी हेमराज वर्मा ने बताया कि कनिष्ठ अभियंता की शिकायत के बाद पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है. लोक निर्माण विभाग के दो जूनियर इंजीनियरों के काम में बाधा पहुंचाने पर एफआईआर की गई है.

वीडियो हुए थे वायरल
मामले से जुड़े वीडियो भी सामने आए थे. पुल के बहने का वीडियो भी सामने आया था. साथ ही जेई को जूतों की माला और झूला पुल पर लटकाए हुए वीडियो भी वायरल हुए हैं. लोगों ने स्थानीय विधायक और शिक्षा मंत्री गोबिंद ठाकुर के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की थी. फिलहाल, विभाग ने ग्रामीणों को पुल निर्माण के लिए 3 महीने का आश्वासन दिया है.

क्या है पूरा मामला
दरअसल, मनाली के सोलंग गांव में 15 अगस्त के दिन भारी बारिश के बाद गांव को जाने वाला अस्थाई पुल बह गया था. इस पुल से गुजरे रहे दो किशोर भी ब्यास नदी में बह गए थे और उनकी मौत हो गई थी. इस मामलों को लेकर काफी विवाद हुआ था और लोगों ने मौके पर पहुंचे पीडब्ल्यूडी विभाग के जेई को जूतों की माला पहना दी थी, साथ ही जमकर नारेबाजी की थी. बता दें कि यहां पर सात साल से पुल का निर्माण का काम पूरा नहीं हुआ है.

Tags: Himachal news, Himachal Police, Manali news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर