देश का पहला ईको टूरिज्म विलेज बनेगा अटल बिहारी वाजपेयी का यह गांव

हिमाचल प्रदेश की पर्यटन नगरी मनाली के साथ लगता हुआ प्रीणी गांव देश का पहला ईको पर्यटक गांव बनने जा रहा है. यह वही गांव है, जहां पर भारत के पूर्व प्रधानमंत्री रहे स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी का दूसरा घर है.

Sachin Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 12, 2019, 7:43 PM IST
देश का पहला ईको टूरिज्म विलेज बनेगा अटल बिहारी वाजपेयी का यह गांव
हिमाचल सरकार प्रीणी गांव को ईको विलेज बनाने जा रही है. यह अटल जी का दूसरा घर है.
Sachin Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 12, 2019, 7:43 PM IST
हिमाचल प्रदेश की पर्यटन नगरी मनाली के साथ लगता हुआ प्रीणी गांव देश का पहला ईको पर्यटक गांव बनने जा रहा है. इस दिशा में पर्यटन विभाग ने भी अपनी कवायद शुरू कर दी है. गौरतलब है कि यह वही गांव है, जहां पर भारत के पूर्व प्रधानमंत्री रहे स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी का दूसरा घर है. अटल बिहारी वाजपेयी का एक सपना था कि वह इस गांव को आर्दश ग्राम बना सके, लेकिन उनका यह सपना उनके जीते जी पूरा नहीं हो पाया. किन्तु अब अटल का वह सपना सच होता प्रतीत हो रहा है. हिमाचल प्रदेश सरकार ने अब इस गांव को इको पर्यटक गांव बनाने की कवायद शुरू कर दी है.

इस प्रीणी गांव के ईको पर्यटक गांव बनने से यहां के पर्यटन व्यवसाय को भी पंख लग सकते हैं. यह देश का पहला ऐसा गांव होगा, जहां हर तरह की सुविधा उपलब्ध होगी. इस गांव में नि:शुल्क वाईफाई की सुविधा होगी. स्कूली बच्चों के लिए स्मार्ट क्लासें होंगी. पूरा गांव सीसीटीवी कैमरों से लैस होगा.



इस गांव को जोड़ने वाली हर सड़क को पक्का किया जाएगा. गांव के हर कोने में सोलर लाइटें उपल्बध होगी. इसके साथ ही इस गांव में एक ओपन एयर जिम पार्क का भी निर्माण किया जाएगा.

मनाली के एसडीएम रमन घरसंगी ने बताया कि प्रीणी गांव को इको पर्यटक गांव बनाने की कवायद शुरू कर दी है और इसको लेकर गांव वासियों के साथ एक बैठक का भी आयोजन किया गया है, जिसमें गांववासियों से उनके सुझाव भी मांगे हैं.

उन्होने कहा कि यह एक ऐसा गांव होगा जो हर आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा.

गांव के प्रधान शिवदयाल और स्कूल के मुख्य अध्यापक सतीश ने बताया कि उनके गांव के स्कूल को इस प्रोजैक्ट के तहत आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जा रहा है. यहां स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के लिए स्मार्ट क्लास की सुविधा प्रदान की जाएगी.

यह भी पढ़ें: बीजेपी कार्यकर्ता 7 लाख घरों पर झंडे लगाएंगे, सोशल मीडिया पर सेल्फी करेंगे साझाकन्या स्कूल में 'सुझाव पुलिस अंकल के नाम': छात्राएं मुस्कराईं, प्रबंधन हुआ चौकन्ना
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार