अटल टनल ने लाहौल स्पीति में खोले टूरिज्म के द्वार, कारोबार बढ़ा, सैलानियों की भीड़

लाहौल का त्रिलोकीनाथ इलाका.
लाहौल का त्रिलोकीनाथ इलाका.

लाहौल में टूरिस्ट के आने से गंदगी भी फैलने लगी है. टूरिस्ट की वजह से जगह-जगह कूड़े के ढेर भी लग रहे हैं. लेकिन सरकार के पास इसे लेकर डिस्पोजन प्लान नहीं है. इससे प्रकृति को नुकसान पहुंचेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 2:40 PM IST
  • Share this:
मनाली. हिमाचल प्रदेश का जिला लाहौल स्पीति (Lahaul Spiti) की तस्वीर अटल टनल की वजह बदल गई है. अब यहां घाटी में टूरिस्ट का जमावड़ा लग गया है. लाहौल के अछुते स्थानों पर टूरिस्ट पहुंच रहे हैं. अटल टनल (Atal Tunnel) लाहौल स्पीति के लोगों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है. बता दें कि अक्टूबर महीने में बर्फबारी (Snowfall) का आगाज होते ही हर साल लाहौल स्पीति सुनसान हो जाता था. केवल स्थानीय लोग ही नजर आते थे, लेकिन अब टनल (Tunnel) के बनने से अक्तूबर में भी लोगों की खासी भीड़ उमड़ रही है.

कहां-कहां भीड़
टनल के खुलने से लाहौल के कोकसर, सिस्सू, तांदी, त्रिलोकीनाथ, उदयपुर जैसे स्थानो पर सैलानियों का हुजूम उमड़ रहा है. स्थानीय लोगों का कहना है कि अटल टनल से पर्यटन कारेाबार को भी काफी लाभ पंहुचा है. रोजाना बड़ी संख्या में पर्यटक लाहौल पंहुच रहे हैं. हालांकि, लोगों को कहना है कि दूसरे स्थानों की तरह लाहौल स्पीती को भी टूरिज्म की दृष्टि से विकसित जाए, यहां विंटर गेम्स हो सकती हैं.

क्या बोले पूर्व विधायक
जिला लाहौल स्पीति के पूर्व विधायक रवि ठाकुर ने कहा कि जिला लाहौल स्पीति के लिए अटल टनल किसी वरदान से कम नहीं है. यहां के पर्यटन कारोबार को भी काफी लाभ हुआ है. सरकार को चाहिए कि वह एक मास्टर प्लान तैयार कर यंहा के पर्यटन को विकसित करें.



परेशानी भी बढ़ी
लाहौल में टूरिस्ट के आने से गंदगी भी फैलने लगी है. टूरिस्ट की वजह से जगह-जगह कूड़े के ढेर भी लग रहे हैं. लेकिन सरकार के पास इसे लेकर डिस्पोजन प्लान नहीं है. इससे प्रकृति को नुकसान पहुंचेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज