एडवेंचर टूरिज्म के शौकीन पैराग्लाइडिंग व रिवर राफ्टिंग का मजा फिर से ले सकेंगे

मनाली में पिछले दो महीने से बंद एडवेंचर टूरिज्म को पर्यटकों के लिए फिर से खोल दिया गया है. देश- विदेश से आने वाले पर्यटक अब मनाली में पैराग्लाइडिंग और रिवर राफ्टिंग का मजा ले सकेंगे.

Sachin Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 16, 2018, 6:21 PM IST
एडवेंचर टूरिज्म के शौकीन पैराग्लाइडिंग व रिवर राफ्टिंग का मजा फिर से ले सकेंगे
पैराग्लाईडिंग का लुफ्त उठाते पर्यटक
Sachin Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 16, 2018, 6:21 PM IST
हिमाचल प्रदेश के मनाली में  एडवेंचर टूरिज्म पर लगे प्रतिबंध को हटा लिया गया है. देश- विदेश से आने वाले एडवेंचर टूरिज्म के शौकीन पर्यटक मनाली में पैराग्लाइडिंग और रिवर राफ्टिंग का मजा फिर से ले सकेंगे.

मनाली में एडवेंचर टूरिज्म के लिए हर साल लाखों की संख्या में पर्यटक आते हैं. पैराग्लाइडिंग और रिवर राफ्टिंग को लेकर पर्यटकों में खासा उत्साह रहता है. लेकिन बीते 15 जुलाई से  घाटी में एडवेंचर टूरिज्म पर रोक लगा दी गई थी. पैराग्लाइडिंग और रिवर राफ्टिंग  के लिए घाटी में आए पर्यटकों को निराश होकर वापस लौटना पड़ रहा था,  जिसका असर मनाली के पर्यटन कारोबार पर भी पड़ रहा था.

हिमाचल प्रदेश के हरे-भरे देवदार के पेड़ और बर्फ की सफेद चादरों से ढंकी उंची-उंची पहाड़ियां हमेशा से ही पर्यटकों को अपनी और खींचती रही हैं रही हैं. हर साल लाखों की संख्या में देश-विदेश के पर्यटक यहां की  खूबसूरती देखने के लिए आते हैं. यहां स्थित कुल्लू-मनाली की खूबसूरत पहाड़ियों के बीच कल-कल  करती ब्यास नदी की धारा पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है.

बारिश के मौसम को ध्यान में रखते हुए एहतियातन 15 जुलाई से 15 सितम्बर तक घाटी में दो महीने के लिए सभी तरह की एडवेंचर टूरिज्म पर प्रतिबंध लगा दिया था. बारिश का मौसम खत्म होने के बाद घाटी में एडवेंचर टूरिज्म को पर्यटकों के लिए एक बार फिर से खोल दिया गया है. प्रशासन के इस कदम से पर्यटन कारोबारियों में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है.

जिला पर्यटन अधिकारी बीसी नेगी का कहना है कि मनाली में एडवेंचर टूरिज्म पर लगी रोग 15 सितंबर से हटा लिया गया है. बरसात के दिनों में पर्यटकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए दो महीने के लिए हर साल एडवेंचर टूरिज्म पर रोक लगा दी जाती है और 15 सितंबर तक से इस रोक को हटा दिया जाता है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर