लाइव टीवी

ABVP ने खोला जयराम सरकार के खिलाफ मोर्चा- 7 से 20 फरवरी तक प्रदेशभर में प्रदर्शन
Mandi News in Hindi

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 5, 2020, 6:04 PM IST
ABVP ने खोला जयराम सरकार के खिलाफ मोर्चा- 7 से 20 फरवरी तक प्रदेशभर में प्रदर्शन
ABVP के पदाधिकारियों ने कहा कि जयराम सरकार मूलभूत सुविधाएं देने के लिए कुछ नहीं कर रही.

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) 7 से 20 फरवरी तक प्रदेशभर में जयराम सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी. एबीवीपी ने जयराम सरकार (Jairam Government) पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार मूलभूत सुविधाओं (Basic Facilities) को लेकर कुछ नहीं कर रही है.

  • Share this:
मंडी. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) 7 से 20 फरवरी तक प्रदेशभर में जयराम सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी. एबीवीपी ने पत्रकारवार्ता में जयराम सरकार (Jairam Government) पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार सड़कों की हालत सुधारने में विफल रही है. संगठन के पदाधिकारियों ने कहा कि सड़कों की हालत बेहद खराब (Bad Roads) है. मूलभूत सुविधाओं (Basic Facilities) को लेकर सरकार कुछ नहीं कर रही है. शिक्षा के क्षेत्र में भी कुछ खास नहीं हो पा रहा है. युवा पीढ़ी (Young Generation) नशे की गिरफ्त में आ रही है. नशा माफिया पुलिस की पहुंच से दूर है. एबीवीपी ने सरकार से मांग की है कि मुख्य नशा माफिया पर शिकंजा कसा जाए.

क्लस्टर यूनिवर्सिटी में नई भर्तियां करने की मांग

एबीवीपी ने मंडी जिला स्थापित क्लस्टर यूनिवर्सिटी को लेकर भी सवाल उठाए हैं. एबीवीपी पदाधिकारियों का कहना है कि कहने को यह यूनिवर्सिटी दो साल पहले वल्लभ कॉलेज में स्थापित की जा चुकी है, लेकिन अभी तक इस यूनिवर्सिटी के नाम पर धरातल स्तर पर कुछ नहीं हो पाया है. उन्होंने कहा कि क्लस्टर
यूनिवर्सिटी के वीसी को लाखों रुपये प्रति माह वेतन दिया जा रहा है, लेकिन इस यूनिवर्सिटी के लिए वह कुछ नहीं कर पा रहे हैं. एबीवीपी ने हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी से क्लस्टर यूनिवर्सिटी के लिए स्टॉफ स्थानान्तरित करने का विरोध करते हुए यहां नई भर्तियां करने का आग्रह किया है.



एबीवीपी ने हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी से क्लस्टर यूनिवर्सिटी के लिए स्टॉफ स्थानान्तरित करने का विरोध करते हुए यहां नई भर्तियां करने का आग्रह किया.


... नहीं तो आंदोलन करेंगे

एबीवीपी ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सड़क और शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए तो आंदोलन का रास्ता अपनाया जाएगा. एबीवीपी अपने आंदोलन के तहत 7 फरवरी को पर्चा वितरण व शिक्षा मंत्री को प्राचार्य के माध्यम से ज्ञापन भेजेगा. जबकि 11 फरवरी को इकाई स्तर पर हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा. 12 फरवरी को छात्र संघ चुनाव बहाली के लिए धरना प्रदर्शन किया जाएगा. 14 फरवरी को जिला स्तर पर धरना प्रदर्शन और जिला प्रशासन के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजे जाएंगे. मांगों के समर्थन में 17 व 18 फरवरी को सांकेतिक भूख हड़ताल की जाएगी. अनदेखी पर 20 फरवरी को कक्षाओं का बहिष्कार किया जाएगा.

ये भी पढ़ें - डेढ़ किलो चरस के साथ नेपाली महिला तस्कर गिरफ्तार, NDPS के तहत मामला दर्ज

ये भी पढ़ें - केलांग : बौद्ध धर्म में पापों का प्रायश्चित करने की है अनोखी परंपरा

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 4:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर