अपना शहर चुनें

States

हिमाचल के CM के सामने भरी सभा में अनिल शर्मा को मंत्री महेंद्र सिंह-सासंद रामस्वरूप ने सुनाई खरी-खरी

हिमाचल के आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह, अनिल शर्मा और सांसद रामस्वरुप शर्मा.
हिमाचल के आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह, अनिल शर्मा और सांसद रामस्वरुप शर्मा.

MLA Anil Sharma on Stage in Mandi: अनिल शर्मा ने मंच से अपना संबोधन देकर कुछ बात कही और बात इतनी दूर तक चली गई कि भाजपा नेताओं ने पिछले 60 वर्षों का हिसाब-किताब मंच पर मौजूद अनिल शर्मा के सामने रख दिया.

  • Share this:
मंडी. लोकसभा चुनाव-2019 (Loksabha Election 2019) के बाद पहली बार सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) की जनसभा में पहुंचे मंडी (Mandi) के सदर के विधायक अनिल शर्मा (BJP MLA Anil Sharma) को भरी सभा में जमकर खरी-खोटी सुननी पड़ी. अनिल शर्मा ने मंच से अपना संबोधन देकर कुछ बात कही और बात इतनी दूर तक चली गई कि भाजपा नेताओं ने पिछले 60 वर्षों का हिसाब-किताब मंच पर मौजूद अनिल शर्मा के सामने रख दिया.

सीएम की जनसभा में अनिल शर्मा भी पहुंचे थे
दरअसल, सीएम जयराम ठाकुर सोमवार को मंडी में करोड़ों की योजनाओं के उदघाटन और शिलान्यास करने आए थे. इसके बाद सेरी मंच पर जनसभा रखी गई थी, जिसमें सदर के विधायक अनिल शर्मा को भी आमंत्रित किया गया था. अनिल शर्मा को बाकायदा मंच से बोलने का मौका भी दिया गया. अपने संबोधन में अनिल शर्मा ने कहा कि आजकल कोई अधिकारी या कर्मचारी उनके पास नहीं आता और वह अपने निजी कार्यों में व्यस्त रहते हैं. उन्होंने सीएम से दो वर्षों का समय मांगा और शहर में चल रहे विकास कार्यों में अपना सहयोग देने की बात कही.

मंडी में सीएम के कार्यक्रम में पहुंचे थे अनिल शर्मा.
मंडी में सीएम के कार्यक्रम में पहुंचे थे अनिल शर्मा.

यह बोले सासंद रामस्वरूप


इसके बाद बारी आई सांसद राम स्वरूप शर्मा के संबोधन की. उन्होंने अनिल शर्मा को खरी-खोटी सुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. राम स्वरूप शर्मा ने कहा कि जो एकता से बाहर चले जाते हैं, वह गोलियां देने लगते हैं कि उनके पास कोई अधिकारी नहीं आता. जबकि आज मंडल के अध्यक्ष से लेकर बूथ अध्यक्ष तक के पास अधिकारी और कर्मचारी जा रहे हैं. क्योंकि यह जयराम ठाकुर की सरकार है.

दो वर्ष मांगने वाले पहले 60 वर्षों का हिसाब दें- महेंद्र सिंह
इसके बाद जब आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर का संबोधन शुरू हुआ तो उन्होंने 60 वर्षों का हिसाब-किताब निकालकर सामने रख दिया. महेंद्र सिंह ठाकुर ने मंच पर बैठे अनिल शर्मा और उनके परिवार को खरी-खोटी सुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने कहा कि दो वर्ष मांगने वाले पहले 60 वर्षों का हिसाब दें कि उन्होंने मंडी के लिए क्या किया? जब सीएम बनने की बारी आ रही थी तो यह परिवार हमीरपुर की तरफ देख रहा था.

दादा पोते मौसम वैज्ञानिक
महेंद्र सिंह ने दादा-पोते को मौसम वैज्ञानिक करार देते हुए कहा कि यह पहले ही भांप लेते हैं कि हवा किस तरफ चल रही है और उस तरफ अपना रूख कर लेते हैं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की कुर्सी महालक्ष्मी की कुर्सी होती है, लेकिन मंडी के दो लोग इस कुर्सी की आरती उतारने के बजाय लाल मिर्ची का हवन कर रहे हैं. महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि ऐसे लोगों को शर्म आनी चाहिए.

सीएम ने विवाद पर ली चुटकी
सभा के अंत में जब सीएम जयराम ठाकुर के संबोधन की बारी आई तो उन्होंने ने भी पूरे विवाद पर चुटकी ली. जयराम ठाकुर ने कहा कि सदर विधायक ने जो बात कही वो दूर तक चली गई और पुरानी यादें ताजा हो गई. उन्होंने सरकार की योजना का जिक्र करते हुए तंज कसा कि ’’आज पुरानी राहों से’’ फिर यादें ताजा हो गई. वहीं उन्होंने यह सलाह भी दी कि राजनीति में इस प्रकार की बातों का बुरा नहीं मानना चाहिए.

मंडी दौरे के दौरान सीएम जयराम ठाकुर.
मंडी दौरे के दौरान सीएम जयराम ठाकुर.


इस वजह से अनिल शर्मा की अनदेखी
बता दें कि हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव-2019 में सदर विधायक अनिल शर्मा के बेटे आश्रय शर्मा ने कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ा था. पंडित सुखराम और आश्रय शर्मा कांग्रेस में शामिल हो गए थे, जबकि चुनाव के बीच में अनिल शर्मा ने मंत्रीपद से इस्तीफा दे दिया था. हालांकि, अभी तक अनिल शर्मा भाजपा के ही विधायक हैं और चुनावों के बाद आज वह पहली बार सीएम की जनसभा में गए थे, जहां उन्हें काफी जलालत झेलनी पड़ी.

ये भी पढ़ें: हिमाचल के CM जयराम ठाकुर ने दिए संकेत, कहा-मंत्रिमंडल विस्तार जल्द

हादसे में घायल बच्चा कोमा में PGI में भर्ती, परिवार के पास नहीं इलाज के पैसे

हिमाचल में शिक्षक की हत्या, शव खाई में फेंका, पुलिस की गाड़ी पर पथराव

हिमाचल के शिमला में 24 साल के युवक की सदिग्ध मौत, गाड़ी में मिला था बेसुध

हिमाचल में प्याज@120 : सरकार ने मंगाई 900 क्विंटल खेप, जल्द डिपो में बिकेगा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज