लाइव टीवी

CM के गृहक्षेत्र के खुनाची स्कूल का हाल, कोई टीचर ज्वाइन नहीं करता, कोई एडजेस्टमेंट करवा लेता है

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 5, 2019, 11:36 AM IST
CM के गृहक्षेत्र के खुनाची स्कूल का हाल, कोई टीचर ज्वाइन नहीं करता, कोई एडजेस्टमेंट करवा लेता है
मंडी के सराज का खुनाची स्कूल.

उच्च शिक्षा उपनिदेशक अशोक शर्मा ने बताया कि खाली पदों के बारे में सारी जानकारी निदेशालय को भेज दी गई है और वहां इस बात को प्राथमिकता पर रखा गया है.

  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कई ऐसे दूरदराज के क्षेत्र हैं, जहां अध्यापक (Teachers) अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार हीं नहीं होते हैं. अध्यापक जैसे-तैसे जुगाड़ लगाकर अपनी एडजेस्टमेंट सुविधाजनक स्थानों के लिए करवा देते हैं. यही कारण है कि दुर्गम क्षेत्रों के सरकारी स्कूल और बच्चे अध्यापकों की राह ताकते रह जाते हैं. ऐसा ही एक स्कूल मंडी (Mandi) जिला के सराज विधानसभा क्षेत्र में भी आता है. सीनियर सेकेंडरी स्कूल खुनाची से एक बार जो अध्यापक गया तो फिर उसका पद रिक्त ही हो जाता है. यह स्कूल सराज विधानसभा (Siraj Assembly Area) क्षेत्र के दुर्गम क्षेत्र छतरी के तहत आता है.

कई बार सीएम से मिले, लेकिन परिणाम सीफर: एसएमसी
यह स्कूल सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) के अपने गृहक्षेत्र सराज का है, लेकिन फिर भी शिक्षक यहां सेवाएं देने से कतरा रहे हैं. स्कूल प्रबंधन समिति खुनाची के प्रधान उत्तम सिंह ठाकुर ने बताया कि एसएमसी अध्यापकों की रिक्तियों को लेकर कई प्रस्ताव पारित कर चुकी है और कई बार सीएम जयराम ठाकुर से भी मिल चुकी है लेकिन अभी तक रिक्त पदों को नहीं भरा जा सका है. उन्होंने बताया कि स्कूल में पिछले दो तीन वर्षों से प्रवक्ताओं, डीपी, शास्त्री, पीटी, कलर्क और सीनियर असिस्टेंट के पद खाली चल रहे हैं.

तीन माह पहेल प्रिंसिपल की तैनाती, लेकिन ज्वाइन नहीं किया

तीन महीनों से प्रधानाचार्य का पद भी खाली हो गया है. नए प्रधानाचार्य के आदेश भी तीन महीने पहले हो गए थे, लेकिन अभी तक उन्होंने ज्वाइन नहीं किया है. अन्य रिक्त पदों पर भी कुछ अध्यापकों को यहां ज्वाइन करने के आदेश हुए थे लेकिन उन्होंने भी ज्वाइन न करके कहीं और अपनी एडजेस्टमेंट करवा दी. इन्होंने सीएम जयराम ठाकुर ने रिक्त चल रहे पदों को जल्द से जल्द भरने की मांग उठाई है, ताकि ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों की पढ़ाई पर कोई विपरित प्रभाव न पड़े.

स्कूल में 250 बच्चे
स्कूल में पढ़ने वालों बच्चों की संख्या 250 के करीब है. उच्च शिक्षा उपनिदेशक अशोक शर्मा ने बताया कि खाली पदों के बारे में सारी जानकारी निदेशालय को भेज दी गई है और वहां इस बात को प्राथमिकता पर रखा गया है. अभी नई नियुक्तियां होने जा रही हैं, जिसमें सभी रिक्त पदों को भर दिया जाएगा.
Loading...

ये भी पढ़ें: हिमाचल: 13 साल की किशोरी से नाबालिग ने किया दुष्कर्म, FIR

PHOTOS: BRO ने बर्फ हटाई, रोहतागं पास वाहनों के लिए बहाल, लेकिन वक्त तय

शिमला में बंदरों का शिकार हुआ गुजराती शख्स, कहीं नहीं मिला एंटी रेबीज इंजेक्शन

VIDEO: बिलासपुर में गुंडागर्दी, दो युवकों को अगवा कर 6 घंटे तक पीटा!

इन्वेस्टर मीट के बाद कैबिनेट में होगा फेरबदल, बनेंगे दो नए मंत्री: सीएम जयराम

VIDEO: न सोने को बिस्तर, ना खाने अनाज और ना ही छत, SDM करेंगे जांच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 11:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...