फोरलेन की भेंट चढ़ी हिमाचल दर्शन फोटो गैलरी पहुंचे सीएम, जाने हालात

फोटो गैलरी के संस्थापक बीरबल शर्मा ने मुख्यमंत्री को बताया कि फोटो गैलरी 10 अगस्त से बंद पड़ी है, सारा संग्रह व बरसेले जहां तक रखे हुए हैं.

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 12, 2018, 5:48 PM IST
फोरलेन की भेंट चढ़ी हिमाचल दर्शन फोटो गैलरी पहुंचे सीएम, जाने हालात
फोटो गैलरी का मुआयना करते सीएम.
Virender Bhardwaj
Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 12, 2018, 5:48 PM IST
दो दिवसीय मंडी प्रवास के दूसरे दिन सराज घाटी के दौरे पर जाते हुए बुधवार सुबह मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर बिंदरावणी स्थित हिमाचल दर्शन फोटो गैलरी परिसर में रुके.

गैलरी के संस्थापक बीरबल शर्मा ने व्हॉट्सऐप मैसेज से ही मुख्यमंत्री से आग्रह किया था कि वह कुछ क्षण यहां रुक कर फोरलेन से जुड़ी वास्तविकता की सच्चाई देखें. मुख्यमंत्री ने इस आग्रह को स्वीकार करते हुए मौके पर पहुंच कर जमीनी सच को देखा व कानों से सुना. उन्हें बताया गया कि किस तरह से लोगों को बरसात में भवन तोड़ने के लिए मजबूर किया गया.

बिजली काट दी गई. एचटी व दूसरी लाइनों को को बदला नहीं जा रहा है. बिजली-पानी काट कर लोगों को डराने धमकाने का काम जारी है. अभी जमीन के कई खसरा नंबरों की नोटिफिकेशन ही नहीं हुई है, कई लोगों को मुआवजा नहीं दिया गया है, किस तरह से लोगों की जमीन को लेकर उन्हें बेदखल करने का प्रयास किया जा रहा है. हिमाचल प्रदेश रोड़ साइड लैंड कंट्रोल एक्ट 1968 व टीसीपी एक्ट लागू करके लोगों को शेष बची अपनी ही जमीन से बेदखल किया जा रहा है.

मुख्यमंत्री के ध्यान में यह बात भी लाई गई कि यह किस तरह से खराब सडक़ों की मरम्मत न करके प्रदेश व केंद्र सरकार को बदनाम करने का काम किया जा रहा है. मुख्यमंत्री ने सच्चाई को मौके पर जानकर हैरानी जताई तथा कहा कि जल्द ही फोरलेन संघर्ष समिति के साथ उच्च स्तरीय वार्ता करके सारे मसले को सुलझाया जाएगा.

...तो ब्यास में बहा देंगे सामान
फोटो गैलरी के संस्थापक बीरबल शर्मा ने मुख्यमंत्री को बताया कि फोटो गैलरी 10 अगस्त से बंद पड़ी है, सारा संग्रह व बरसेले जहां तक रखे हुए हैं, यदि सरकार उन्हें उनकी बाकी बची जमीन पर इसे स्थापित करने की इजाजत देगी तो फिर से गैलरी को भव्य तरीके से बना दिया जाएगा, मगर यदि सरकार ने नियमों में ढील नहीं दी, बिजली पानी बहाल नहीं किया और अपनी ही जमीन से वंचित कर दिया तो वह इस सारे संग्रह को ब्यास में बहा देंगे.

मुख्यमंत्री को इस संबंध में एक ज्ञापन भी सौंपा गया. उन्होंने आश्वासन दिया कि सरकार फोरलेन प्रभावितों की हर समस्या का समाधान तलाशने का प्रयास करेगी. मौके पर मुख्यमंत्री की पत्नी साधना ठाकुर, सांसद राम स्वरूप शर्मा, विधायक राकेश जमवाल, उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक व अन्य आला अधिकारी भी मौजूद रहे.
Loading...
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर