• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • CM जयराम के ड्रीम प्रोजेक्ट मंडी एयरपोर्ट का विरोध होगा तेज, संघर्ष समिति की चेतावनी

CM जयराम के ड्रीम प्रोजेक्ट मंडी एयरपोर्ट का विरोध होगा तेज, संघर्ष समिति की चेतावनी

मंडी में प्रेस वार्ता के दौरान संघर्ष समिति के सदस्य.

मंडी में प्रेस वार्ता के दौरान संघर्ष समिति के सदस्य.

बल्ह बचाओ किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष जोगिंद्र सिंह वालिया ने कहा कि मंडी के बल्ह में प्रस्तावित हवाई अड्डे के निर्माण से प्रभावित किसानों को विस्थापन का दंश झेलना पड़ेगा और यहां से लगभग 25 सौ परिवारों के 12 हजार लोगों को अपनी जमीन से हाथ धोना पड़ेगा.

  • Share this:

मंडी. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के ड्रीम प्रोजेक्ट बल्ह में प्रस्तावित हवाई अड्डे के प्रोजेक्ट पर फिर एक बार खतरे के बादल मंडराने लगे हैं. मंडी जिला के बल्ह बचाओ किसान संघर्ष समिति ने बल्ह की उपजाउ भूमि पर हवाई अड्डे के विरोध में अपने आंदोलन को और तेज करने का निर्णय लिया है. गुरुवार को मंडी के नेरचौक में आयोजित एक प्रैस वार्ता के दौरान बल्ह बचाओ किसान संधर्ष समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बल्ह के किसानों की बात न मानते हुए बल्ह की उपजाउ भूमि को उजाड़ कर अपने सपने को पूरा करने में लगे हैं.

क्या बोले संघर्ष समिति के सदस्य

बल्ह बचाओ किसान संघर्ष समिति के सचिव नंद लाल वर्मा ने कहा कि किसान बीते साढ़े तीन वर्षों से सीएम जयराम ठाकुर से वार्ता का समय मांग रहे हैं, परंतु सीएम ने उनकी मांगों पर गौर करना तो दूर अभी तक उन्हें वार्ता तक के लिए नहीं बुलाया है और न ही बल्ह के विधायक इंद्र सिंह गांधी ने इस मुद्दे पर उनके साथ कोई बात की. उन्होंने कहा कि किसानों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ अपने आंदोलन को और तेज करने का मन बना लिया है, जिसके चलते आने वाली 10 नवंबर को विधायक के निवास का घेराव किया जाएगा. इससे भी बात नहीं बनी तो फिर आने वाले समय में प्रदेश में जहां भी सीएम के कार्यक्रम होंगे वहां किसान काले बिल्ले लगाकर अपना विरोध जताएंगे.

25 सौ परिवार होंगे प्रभावित

पत्रकार वार्ता के दौरान बल्ह बचाओ किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष जोगिंद्र सिंह वालिया ने कहा कि मंडी के बल्ह में प्रस्तावित हवाई अड्डे के निर्माण से प्रभावित किसानों को विस्थापन का दंश झेलना पड़ेगा और यहां से लगभग 25 सौ परिवारों के 12 हजार लोगों को अपनी जमीन से हाथ धोना पड़ेगा. उन्होंने प्रदेश सरकार पर किसानों को उचित मुआवजा न देकर उनकी जमीनें सस्ते दामों पर अधिग्रहण करने का आरोप भी लगाया. उन्होंने प्रदेश सरकार से मिनी पंजाब के नाम से मशहूर बल्ह घाटी में हवाई अड्डे को न बनाकर किसी अन्य स्थान पर गैर उपजाउ जमीन पर बनाने की मांग उठाई है.

सीएम जयराम का ड्रीम प्रोजेक्ट

बता दें कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने पर्यटन की दृष्टि से मंडी में एक बड़े हवाई अड्डे के निर्माण का सपना देखा है, लेकिन बल्ह में हवाई अड्डे के निर्माण की जद में आने वाले किसान लगातार यहां पर इसके निर्माण का विरोध कर रहे हैं. अब एक बार फिर से किसानों ने ग्रामीणों को लामबंद कर अपने आंदोलन को और तेज करने का मन बना लिया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज