PM मोदी की नजरों में सांसद रामस्वरूप की कोई वैल्यू नहीं: आश्रय शर्मा

कांग्रेस नेता और भाजपा सांसद राम स्वरूप शर्मा.
कांग्रेस नेता और भाजपा सांसद राम स्वरूप शर्मा.

Ashray Sharma attacks on Ramswaroop: आश्रय ने निशाना साधते हुए कहा कि सांसद राम स्वरूप शर्मा सांसद महोदय अपने संसदीय क्षेत्र में कोई भी विकास का कार्य करवाने में पूरी तरह से विफल साबित हुए हैं और ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनकी कितनी नजदीकियां हैं इस बात का भी पता चल गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 1:18 PM IST
  • Share this:
मंडी. लोकसभा चुनाव-2019 में मंडी से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे आश्रय शर्मा का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narender Modi) की नजरों में मंडी के सांसद राम स्वरूप शर्मा की कोई वैल्यू नहीं है. क्योंकि, बीती 3 अक्तूबर को जब प्रधानमंत्री मंडी संसदीय क्षेत्र के दौरे पर आए तो उन्होंने मंच से एक बार भी स्थानीय सांसद का जिक्र तक नहीं किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोहतांग टनल (Rohtang Tunnel) के उदघाटन पर तीन बार अपना संबोधन दिया. तीनों संबोधनों में मंच पर उनके साथ सांसद राम स्वरूप शर्मा (Ram Swaroop Sharma) भी मौजूद रहे लेकिन प्रधानामंत्री ने अपने संबोधनों में एक बार भी सांसद राम स्वरूप शर्मा का नाम तक लेना उचित नहीं समझा. इससे स्पष्ट होता है कि सांसद राम स्वरूप शर्मा की वैल्यू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नजरों में है ही नहीं.

स्थानीय सासंद को तवज्जो नहीं
देश भर से जो सांसद चुनकर लोकसभा में पहुंचते हैं उन्हीं के चुनाव से देश के प्रधानमंत्री का चयन होता है. ऐसा कम ही देखने को मिलता है कि देश का प्रधानमंत्री जिस संसदीय क्षेत्र में जाए और वहां पर अपनी ही पार्टी के चुने हुए सांसद को पूरी तरह से दरकिनार कर दे. वर्ष 2019 में जब लोकसभा के चुनाव हुए थे तो उस वक्त नरेंद्र मोदी मंडी में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करने यहां आए थे. उस वक्त भी नरेंद्र मोदी ने भरी जनसभा में सांसद का जिक्र तक नहीं किया था और अपने लिए समर्थन मांगकर चले गए थे.

मोदी लहर में जीते
आश्रय ने कहा कि भाजपा की लहर में सांसद राम स्वरूप शर्मा भारी मतों से जीतकर संसद तो पहुंच गए, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह साबित कर दिया कि उनकी पार्टी के सांसद महोदय इस लायक नहीं कि वह मंच से उनका जिक्र तक कर सकें. यहां तक कि उसी मंच पर हमीरपुर के सांसद केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर भी मौजूद थे और प्रधानमंत्री ने तीनों बार उनका जिक्र किया. आश्रय ने निशाना साधते हुए कहा कि सांसद राम स्वरूप शर्मा सांसद महोदय अपने संसदीय क्षेत्र में कोई भी विकास का कार्य करवाने में पूरी तरह से विफल साबित हुए हैं और ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनकी कितनी नजदीकियां हैं इस बात का भी पता चल गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज