पूर्व स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह की चुनौती, मेरे आरोपों पर कानूनी कार्रवाई करे सरकार

पूर्व स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह.
पूर्व स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह.

कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि स्वास्थ्य उपकरणों की खरीद के लिए केंद्र सरकार ने एचआईएलएल को अधिकृत किया है, लेकिन प्रदेश सरकार ने इसके बजाय सीपीडब्ल्यूडी से सारा सामान खरीदा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2020, 12:59 PM IST
  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर (Kaul Singh Thakur) ने राज्य सरकार को चुनौती दी है कि जो आरोप उन्होंने स्वास्थ्य विभाग में हुई खरीद फरोख्त को लेकर लगाए हैं, उनपर सरकार कानूनी कार्रवाई करे, नहीं तो मामले को अदालत में ले जाया जाएगा. मंडी (Mandi) में न्यूज18 के साथ बातचीत में कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि वह प्रदेश के कानून मंत्री (Law Minister) रह चुके हैं और खुद भी एक वकील है, उन्हें कानूनों का सही ढंग से ज्ञान है. कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि जो आरोप लगाए गए हैं वह तथ्यों पर आधारित हैं और सरकार को उनपर जांच करवानी चाहिए.

क्या आरोप लगाए

कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि पंजाब ने जो ऑक्सीमीटर 514 रूपए में खरीदा वहीं ऑक्सीमीटर हिमाचल सरकार ने 2950 में खरीदा. इसी तरह से 9100 में जो ऑक्सीजन सिलेंडर प्रदेश की फर्म सरकार को देने जा रही थी. उसे सरकार ने किसी दूसरी फर्म से 15750 रूपए में जबकि 13500 रुपये कीमत वाले ऑक्सीजन सिलेंडर को 18500 रूपए में खरीदा गया है. इन दोनों खरीद से ही प्रदेश के सरकारी खजाने को एक करोड़ से अधिक का चुना लगा है.



सरकार को जांच करनी चाहिए
कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि स्वास्थ्य उपकरणों की खरीद के लिए केंद्र सरकार ने एचआईएलएल को अधिकृत किया है, लेकिन प्रदेश सरकार ने इसके बजाय सीपीडब्ल्यूडी से सारा सामान खरीदा जबकि सीपीडब्ल्यूडी कंस्ट्रक्शन वर्क का काम करती है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार में पूर्व में रहे स्वास्थ्य सचिव ने यह सारी खरीद की है और सरकार को पूरे मामले की विजिलेंस जांच करवानी चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज