• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • मंडी उपचुनाव: पंडित सुखराम बोले- मेरा पोता भी दावेदार, हाईकमान से करूंगा बात

मंडी उपचुनाव: पंडित सुखराम बोले- मेरा पोता भी दावेदार, हाईकमान से करूंगा बात

पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री पंडित सुखराम और उनका पोता आश्रय शर्मा.

पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री पंडित सुखराम और उनका पोता आश्रय शर्मा.

Mandi by-polls: आश्रय शर्मा 2019 ने लोकसभा चुनावों में मंडी संसदीय सीट से कांग्रेस पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन वह बुरी तरह से चुनाव हार गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

मंडी. हिमाचल प्रदेश के मंडी लोकसभा चुनाव (Mandi By-elections) को लेकर कांग्रेस पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर द्वारा प्रतिभा सिंह को सर्वमान्य प्रत्याशी घोषित किए जाने पर पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री पंडित सुखराम (Pandit Sukhram) ने नाराजगी जाहिर की है. सुखराम की तरफ से जारी किए गए प्रेस बयान में उन्होंने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष को नसीहत दी है. इसके साथ उन्‍होंने दिल्ली (Delhi) में पार्टी हाईकमान से मुलाकात करके अपनी बात रखने की बात भी कही.

प्रेस बयान में पंडित सुखराम ने कहा कि कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कुलदीप राठौर जी यह बयान दे रहे हैं कि मंडी संसदीय सीट पर होने वाले उपचुनावों में कांग्रेस पार्टी की तरफ से प्रतिभा सिंह के नाम को तय कर दिया गया है. मैं आपके माध्यम से कुलदीप राठौर के ध्यान में यह बात लाना चाहता हूं कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पास टिकट बांटने का कोई अधिकार नहीं है. टिकट किसे देना है और किसे नहीं, यह पार्टी हाईकमान का अंदरूनी फैसला होता है. टिकट पार्टी हाईकमान के निर्णय पर दिया जाता है न कि मीडिया में बयान देकर.

सुखराम ने कहा कि इस प्रकार के बयान देकर कुलदीप राठौर दूसरे दावेदारों को पूरी तरह से नजरअंदाज करने में लगे हुए हैं, जोकि उचित नहीं हैं. मेरा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष को सुझाव है कि ये पार्टी की अंदरूनी बातें हैं और इन पर पार्टी के अंदर ही चर्चा होनी चाहिए. उन्हें सार्वजनिक रूप से ऐसे बयान देने और बातें करने से बचना चाहिए.

पोते को बताया टिकट का प्रवल दावेदार
पंडित सुखराम ने कहा कि उनका पोता आश्रय शर्मा 2019 ने लोकसभा चुनावों में मंडी संसदीय सीट से कांग्रेस पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था और इस लिहाज से उपचुनावों में उसकी सबसे प्रवल दावेदारी बनती है. अभी मैं दिल्ली में ही हूं और जल्द ही पार्टी के शीर्ष नेतृत्व सोनिया गांधी और राहुल गांधी सहित अन्य प्रमुख नेताओं से मुलाकात करके उनके समक्ष अपनी बात रखूंगा. आश्रय शर्मा एक युवा और जुझारू नेता है. हार-जीत चली रहती है. यदि पिछले चुनावों में उसे हार का सामना करना पड़ा है तो इसका मतलब यह नहीं कि भविष्य में उसे फिर कभी पार्टी की तरफ से टिकट हीं नहीं मिलेगा. मंडी संसदीय क्षेत्र का मुझे भी कई बार प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला है. यहां के लोग कांग्रेस पार्टी की विचारधारा के साथ जुड़े हैं. 2019 के लोकसभा चुनावों में लोगों को जो झूठे सब्जबाग दिखाए गए थे उसका लोगों को अब सही ढंग से पता चल गया है. ऐसे में अब यहां से कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी की जीत सुनिश्चित है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज