COVID-19: मंडी में कोरोना मरीज के अटेंडेंट ने प्रशिक्षु महिला डॉक्टर पर किया हमला

मंडी का नेरचौक मेडिकल कॉलेज.

मंडी का नेरचौक मेडिकल कॉलेज.

Patient attendant attacks Women doctor: डीएसपी अनिल पटियाल ने मामले की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि लिखित में शिकायत आई है, लेकिन फिलहाल आगामी कार्रवाई से इनकार किया गया है. यदि आगामी कार्रवाई के लिए कहेंगे तो मामला दर्ज करके आगामी कार्रवाई अम्ल में लाई जाएगी.

  • Share this:

मंडी. इलाज के दौरान डॉक्टरों (Doctors) पर हमले की घटनाएं अब आम होने लगी हैं. ताजा मामला हिमाचल प्रदेश के मंडी (Mandi) जिले से हैं. यहां मेडिकल कालेज नेरचौक के कोविड वार्ड (Covid Ward) में भर्ती कोरोना संक्रमित (Corona virus) के अटेंडेंट ने ड्रिप स्टेंड से एक प्रशिक्षु महिला डाक्टर पर हमला कर दिया. घटना बुधवार रात को पेश आई है.

इस दौरान मौके पर मौजूद अन्य डाक्टरों के बीच बचाव के कारण किसी को कोई चोट नहीं लगी है. इस संदर्भ में डॉक्टरों ने पुलिस को शिकायत दे दी है, लेकिन साथ ही किसी प्रकार की कार्रवाई करने से भी इनकार कर दिया है.

शिकायत दी कार्रवाई से इंकार

पुलिस को दी गई शिकायत में डॉक्टरों ने ड्रिप स्टेंड से हमले की बात कही है. कोविड वार्ड में एक कोरोना संक्रमित की हालत काफी नाजुक बनी हुई है. रात को उसके साथ मौजूद अटेंडेंट ने डाक्टर को बुलाया होगा और शायद डाक्टर के समय पर न आने को लेकर उसे गुस्सा आ गया और वह हमले पर उतारू हो गया. हालांकि, यह सारी बातें अभी अपुष्ट रूप से सामने आ रही हैं. रात को जब यह हमला हुआ तो उसके बाद मौके पर मौजूद डाक्टरों ने पुलिस को शिकायत दी और बल्ह थाना की पुलिस टीम ने मौके पर आकर मामले की छानबीन भी की. लेकिन डाक्टरों ने किसी प्रकार की आगामी कार्रवाई से फिलहाल इनकार कर दिया है.
कार्रवाई ना करने के पीछे दिया तर्क

इसके पीछे डाक्टरों ने मानवीय तर्क देते हुए पुलिस से कहा है कि जिस अटेंडेंट ने यह हरकत की उसके परिजन की स्थिति काफी नाजुक है और यदि इस स्थिति में उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हैं तो इससे उन्हें आघात पहुंच सकता है. अटेंडेंट की मनोस्थिति को देखते हुए आगामी कार्रवाई करने से इनकार किया गया है. हालांकि, डीएसपी अनिल पटियाल ने मामले की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि लिखित में शिकायत आई है, लेकिन फिलहाल आगामी कार्रवाई से इनकार किया गया है. यदि आगामी कार्रवाई के लिए कहेंगे तो मामला दर्ज करके आगामी कार्रवाई अम्ल में लाई जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज