लाइव टीवी

कोरोना वायरस: विदेश से आने वालों की होगी स्वास्थ्य जांच, अस्पतालों में आइसोलेडेट वार्ड स्थापित
Mandi News in Hindi

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: January 30, 2020, 1:57 PM IST
कोरोना वायरस: विदेश से आने वालों की होगी स्वास्थ्य जांच, अस्पतालों में आइसोलेडेट वार्ड स्थापित
मंडी जिला स्वास्थ्य विभाग ने विदेश से लौटकर आ रहे व्यक्ति की हिस्ट्री ट्रैक करने के दिए सख्त निर्देश

मंडी में कोरोना वायरस (Corona Virus) का कोई भी संदिग्ध मरीज नहीं पाया गया है. बावजूद इसके स्वास्थ्य विभाग अलर्ट (Health Department Alert) है. जोनल अस्पताल मंडी सहित जिलाभर के सभी सिविल अस्पतालों में आइसोलेटेड वार्ड (Isolation ward) के लिए दो बेड खाली कर दिए गए हैं ताकि कोई भी संदिग्ध मरीज सामने आने पर उन्हें अलग से रखा जा सके और वायरस को फैलने से रोका जा सके.

  • Share this:
मंडी. अगर आप विदेश जाकर आएं और खासकर चीन जाकर आए हैं तो स्वास्थ्य विभाग आपकी जांच पड़ताल करने आपके घर पहुंचने वाला है. कोरोना वायरस (Corona Virus) से निपटने के लिए मंडी जिला स्वास्थ्य विभाग ने यह निर्णय लिया है. हालांकि अभी तक मंडी जिला में कोरोना वायरस का कोई भी संदिग्ध मरीज नहीं पाया गया है. बावजूद इसके स्वास्थ्य विभाग अलर्ट (Health Department Alert) है और सभी बीएमओ को भी पत्राचार कर आवश्यक कदम उठाने के लिए कहा गया है. जोनल अस्पताल मंडी सहित जिलाभर के सभी सिविल अस्पतालों में आइसोलेटेड वार्ड (Isolation ward) के लिए दो बेड खाली कर दिए गए हैं ताकि कोई भी संदिग्ध मरीज सामने आने पर उन्हें अलग से रखा जा सके और वायरस को फैलने से रोका जा सके.

घबराएं नहीं, सावधानियां बरतें

इसके अलावा पैरामेडिकल स्टॉफ को भी हाल ही में विदेश खासकर चीन से लौटे व्यक्ति की हिस्ट्री को ट्रैक करने के निर्देश दिए गए हैं. विदेश से लौटे व्यक्ति में सर्दी, जुकाम, एलर्जी, छाती में दर्द पाए जाने पर निगरानी रखी जाएगी. इस संबंध में सीएमओ मंडी डॉक्टर जीवानंद चौहान ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर विभाग चौकस है. उन्होंने बताया कि अस्पताल के तमाम डॉक्टरों व पैरामेडिकल स्टॉफ को इसकी जानकारी दे दी गई है ताकि कोई भी संदिग्ध मरीज पाए जाने पर त्वरित कार्रवाई अमल में लाई जा सके. हर प्रकार की सुविधा प्रदान की जाएगी. उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे घबराएं नहीं, सावधानियां बरतें.

वायरस का संक्रमण चीन के वुहान में शुरू हुआ

बता दें कि कोरोना वायरस से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है. इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है. इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था. संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती है. यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है. इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है. इसके संक्रमण से बचाव के लिए हाथों को साबुन से धोना चाहिए. खांसते और छींकते समय नाक और मुंह पर रूमाल रखें. जिन व्यक्तियों में कोल्ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखने की जरूरत है. इसके अलावा अंडे और मांस के सेवन से बचें.

ये भी पढ़ें - कसौली गोलीकांड : विभागीय जांच में 12 पुलिसकर्मी दोषी, कार्रवाई

ये भी पढ़ें - खुशबू के दरिदों को अदालत से मिली जमानत, आरोपी पति व सास जांच में करेंगे सहयोग 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 1:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर