COVID-19: नेरचौक में 7 करोड़ से बने मेकशिफ्ट अस्पताल का CM जयराम ने किया आगाज

नेरचौक में बनाया गया है मेकशिफ्ट अस्पताल.

नेरचौक में बनाया गया है मेकशिफ्ट अस्पताल.

Corona virus in Himachal: जयराम ठाकुर ने बताया कि रत्ती अस्पताल को सामान्य रोगियों के लिए सुचारू कर दिया गया है और जल्द ही मेडिकल कालेज नेरचौक को भी सामान्य रोगियों के लिए सुचारू कर दिया जाएगा.

  • Share this:

मंडी. हिमाचल प्रदेश में मंडी (Mandi) जिले में लंबे इंतजार के बाद आज नेरचौक मेडिकल कालेज के साथ बन रहा मेक शिफ्ट कोविड अस्पताल बनकर तैयार हुआ. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बुधवार को इसका विधिवत रूप से शुभारंभ किया. 7 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुए इस मेक शिफ्ट अस्पताल में 104 बिस्तरों की सुविधा है और यहां कोरोना (Corona Virus) संक्रमितों के लिए वेंटिलेटर सहित आपरेशन थिएटर की भी सुविधा दी गई है. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam) ने बताया कि जब कोविड समाप्त हो जाएगा तो उसके बाद इसे सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के रूप में इस्तेमाल किया जाएगा, क्योंकि यहां आधुनिक सुविधाएं दी गई हैं.

और क्या बोले सीएम जयराम

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बताया कि प्रदेश में अब कोरोना के मामलों में काफी ज्यादा कमी आई है और मृत्यु दर भी कम हो रही है. उन्होंने बताया कि जहां प्रदेश में सिर्फ एक आक्सीजन प्लांट था, वहां अब 8 पीएसएस प्लांट काम कर रहे हैं और 12 प्लांट और लगने जा रहे हैं. प्रदेश में कोरोनों संक्रमितों के लिए पहले 1200 बिस्तरों की व्यवस्था थी, जिसे अब बढ़ाकर पांच हजार कर दिया गया है. कोरोना की भयंकर लहर में प्रदेश में कोई मरीज ऐसा नहीं रहा, जिसे बेड न मिला है. उन्होंने बताया कि अगर तीसरी लहर भी आती है तो प्रदेश उससे निपटने के लिए भी इन सभी सुविधाओं का इस्तेमाल करेगा.

सीएम जयराम ठाकुर नेरचौक में अस्पताल का निरीक्षण करते हुए.

जल्द खुलेगी जनरल ओपीडी

जयराम ठाकुर ने बताया कि रत्ती अस्पताल को सामान्य रोगियों के लिए सुचारू कर दिया गया है और जल्द ही मेडिकल कालेज नेरचौक को भी सामान्य रोगियों के लिए सुचारू कर दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि जगह-जगह कोविड अस्पताल बनाने के बाद अब वहां पर धीरे-धीरे सुविधाएं बढ़ाई जा रही हैं और उसी के तहत अब बाकी अस्पतालों को सामान्य रोगियों के लिए सुचारू किया जा रहा है. इसके बाद मुख्यमंत्री ने जिला के अधिकारियों के साथ कोरोना को लेकर समीक्षा बैठक भी की और अधिकारियों को उचित दिशा निर्देश भी जारी किए. मौके पर जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर और स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव सैजल सहित अन्य गणमान्य लोग भी मौजूद रहे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज