होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /हिमाचल: जमानत खारिज, 1 करोड़ 39 लाख रुपये के गबन में CDPO गिरफ्तार

हिमाचल: जमानत खारिज, 1 करोड़ 39 लाख रुपये के गबन में CDPO गिरफ्तार

ओडिशा सरकार ने IAS अधिकारी बिनय केतन उपाध्याय को सस्पेंड कर दिया है (फाइल फोटो, News18)

ओडिशा सरकार ने IAS अधिकारी बिनय केतन उपाध्याय को सस्पेंड कर दिया है (फाइल फोटो, News18)

CDPO Arrest: सीडीपीओ (CDPO) सुभाष चंद देवलिया पर 1 करोड़ 39 लाख के लगभग सरकारी धन (Money) के गबन का आरोप है.

मंडी. तहसील कल्याण अधिकारी के पद पर रहते हुए सामाजिक सुरक्षा पेंशनों का गबन करने वाले आरोपी सीडीपीओ को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. मामला हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मंडी जिले का है. सीडीपीओ (CDPO) सुभाष चंद देवलिया पर 1 करोड़ 39 लाख के लगभग सरकारी धन के गबन का आरोप है. विभाग ने उनके खिलाफ कई स्तर पर जांच करने के बाद 9 अगस्त को जोगिंदरनगर थाना में एफआईआर दर्ज की थी.

ये है मामला
सुभाष चंद्र देवलिया 2013 से 2017 तक तहसील कल्याण अधिकारी जोगिंद्र नगर (Joginder Nagar) के पद पर तैनात थे तथा 2017 में सीडीपीओ के पद पर पदोन्नत होकर चौंतड़ा चले गए थे. उनके जाने के बाद यह गोलमाल सामने आया. यह सारा पैसा सामाजिक सुरक्षा पेंशनों का था जो गरीब, असहाय, वृद्धों, विधवाओं व अन्य को दिया जाना था. सुभाष चंद्र ने मामला दर्ज होते ही अंतरिम जमानत ले ली थी.

कोर्ट ने अंतरिम जमानत खारिज की
30 सितंबर को भी उनकी अंतरिम जमानत को अगली सुनवाई पर होनी थी, मगर कोर्ट ने उनकी अंतरिम जमानत को आगे नहीं बढ़ाया जिस पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. इससे पहले विभाग ने उन्हें सस्पेंड कर दिया था और इन दिनों उनका मुख्यालय मंडी में जिला कार्यक्रम अधिकारी के कार्यालय में बिठा दिया था. वहीं एसपी मंडी गुरदेव शर्मा (SP Mandi) ने आरोपी सीडीपीओ की गिरफ्तारी की पुष्टि की है.

ये भी पढ़ें: हिमाचल उपचुनाव: पच्छाद से BJP नेता दयाल प्यारी और आशीष सिक्टा ने की बगावत

हिमाचल में प्रशासनिक फेरबदल, केंद्र से लौटे 4 IAS अफसर, 8 HAS अधिकारी बदले

पानी के बिल के मुद्दे पर भिड़े शिमला MC के डिप्टी मेयर और पार्षद आरती चौहान

फीते बंधवाने का मामला: विपक्ष बोला-कर्मचारियों का शोषण कर रहे कुछ मंत्री

हिमाचल में विदाई से पहले मॉनसून की झड़ी, मनाली में चोटियों पर स्नोफॉल

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें