अदालत ने पत्नी की हत्या के आरोप से पति को किया बाइज्जत बरी

दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के पश्चात अदालत ने हत्या के आरोपी बलदेव सिंह को सबूतों के अभाव में बाइज्जत बरी करने का फैसला सुनाया.

Nitesh Saini | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 28, 2019, 10:01 PM IST
अदालत ने पत्नी की हत्या के आरोप से पति को किया बाइज्जत बरी
मंडी- अदालत ने हत्या के आरोपी बलदेव सिंह को सबूतों के अभाव में बाइज्जत बरी करने का फैसला सुनाया. (सांकेति तस्वीर)
Nitesh Saini
Nitesh Saini | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 28, 2019, 10:01 PM IST
मंडी के अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश-1 हंसराज ने पत्नी की हत्या करने के मामले में पति को साक्ष्यों के अभाव में बाइज्जत बरी कर दिया है. जानकारी देते हुए बचाव पक्ष के एडवोकेट हर्ष राणा ने कहा कि मामले में आरोपी बलदेव सिंह निवासी गांव कंदार के खिलाफ सुंदरनगर पुलिस थाना में उसकी पत्नी की हत्या करने को लेकर वर्ष 2014 में प्राथमिकी दर्ज हुई थी. उन्होंने बताया कि प्राथमिकी में मृतिका सुनीता देवी के पिता कश्मीर सिंह ने अपने जंवाई बलदेव सिंह पर उसकी बेटी की गला दबाकर व मारपीट कर निर्मम हत्या करने के आरोप लगाए थे.

कश्मीर सिंह ने प्राथमिकी में कहा था कि उसकी बेटी सुनीता का विवाह वर्ष 2006 में सुंदरनगर उपमंडल के कंदार निवासी बलदेव सिंह से हिंदू रितिवाज के अनुसार हुई थी. शादी से पहले उसकी बेटी को दिल की बीमारी थी और उसका इलाज पीजीआई चंडीगढ़ में करवाया गया था. कश्मीर सिंह के अनुसार ऑपरेशन के बाद उसकी बेटी स्वस्थ हो गई थी और इस बारे में रिश्ते के समय उसके दामाद बलदेव को बता दिया गया था.

बेटी ने पिता को खुद के बीमार होने की जानकारी फोन पर दी थी

कश्मीर सिंह के अनुसार 9 सिंतबर 2014 को उसकी बेटी ने फोन पर उन्हें बीमार व उसके हालात ठीक नहीं होने के बारे में बताया था. वहीं 10 सिंतबर 2014 को सुनीता के बीमार होने को लेकर बलदेव सिंह द्वारा भी कश्मीर सिंह को बताया गया. इस पर कश्मीर सिंह व अन्य रिश्तेदार सुबह अपनी बेटी के ससुराल जड़ोल पहुंच गए. लेकिन वहां पर अपनी बेटी का शव कमरे के फर्श पर पड़ा हुआ देखकर उनके होश उड़ गए.

सुनीता के शव पर थे ताजा चोट के निशान

कश्मीर सिंह के अनुसार मृतिका सुनीता के शव पर मारपीट के कारण ताजा चोट के निशान से खून बह रहा था. इस पर घटना की प्रथम सूचना पुलिस पोस्ट सलापड़ को दी गई, जिस पर सुंदरनगर पुलिस टीम ने एएसआई रामलाल के नेतृत्व में जड़ोल में आकर कार्रवाई शुरू कर दी. पुलिस ने मृतिका सुनीता के पिता कश्मीर सिंह के बयान के आधार पर बलदेव सिंह के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 में हत्या करने का मामला दर्ज कर लिया. एडवोकेट हर्ष राणा ने कहा कि अभियोजन पक्ष की ओर से अदालत में आरोपी के खिलाफ केस सिद्ध करने के लिए 18 गवाह पेश किए गए. एडवोकेट हर्ष राणा ने कहा कि दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के पश्चात अदालत ने आरोपी बलदेव सिंह को सबूतों के अभाव में बाइज्जत बरी करने का फैसला सुनाया है.

ये भी पढ़ें - श्रद्धालुओं से भरा टैंपो पहाड़ी से टकराया, 20 घायल
Loading...

ये भी पढ़ें - बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ : हिमाचल का मंडी देश में सबसे अव्वल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 28, 2019, 5:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...