CRPF इंस्पेक्टर जितेश कुमार को उत्कृष्ट सेवाओं को मिलेगा गृहमंत्री पुलिस पदक

वर्ष 2017-18 में ट्रेनिंग में जितेश ने बेहतरीन प्रदर्शन किया. यही वजह है कि उन्हें गृहमंत्री पुलिस पदक के सम्मान के लिए चयनित किया गया है.

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 12, 2019, 7:07 PM IST
CRPF इंस्पेक्टर जितेश कुमार को उत्कृष्ट सेवाओं को मिलेगा गृहमंत्री पुलिस पदक
मंडी जिले के बल्ह उपमंडल के तहत आने वाले घौड़ गांव निवासी जितेश कुमार को गृहमंत्री पुलिस पदक मिलने जा रहा है.
Virender Bhardwaj
Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 12, 2019, 7:07 PM IST
मंडी. हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले (Mandoi District) के बल्ह उपमंडल (Balh Sub Division) के तहत आने वाले घौड़ गांव (Ghaud Village) निवासी जितेश कुमार (Jitesh Kumar) को गृहमंत्री पुलिस पदक (Home Minister Police Medal) मिलने जा रहा है. यह पदक उन्हें वर्ष 2017-18 में पुलिस प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ट सेवाओं के लिए दिया जा रहा है. हिमाचल प्रदेश से इस बार यह पदक प्राप्त करने वाले जितेश इकलौते शख्स बताए जा रहे हैं. उन्हें यह पदक 26 जनवरी 2020 को दिया जाएगा.

वर्ष 2006 में हिमाचल पुलिस से शुरू किया था कैरियर

जितेश ने वर्ष 2006 में अपने कैरियर की शुरूआत हिमाचल पुलिस (Himachal Police) से की. उन्होंने तीन वर्षों तक हिमाचल पुलिस में बतौर कांस्टेबल (Constable) अपनी सेवाएं दी. इस दौरान उन्होंने थर्ड बटालियन पंडोह, पुलिस मुख्यालय शिमला और वायरलेस मुख्यालय शिमला में अपनी सेवाएं दी. इसी दौरान उन्होंने सीआरपीएफ के सब इंस्पेक्टर की परीक्षा को उतीर्ण कर लिया. सीआरपीएफ में उत्कृष्ट सेवाएं देने के चलते उन्हें बतौर इंस्पेक्टर पद प्रमोशन के तौर पर मिली.

CRPF-सीआरपीएफ
यह पदक जितेश कुमार को वर्ष 2017-18 में पुलिस प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ट सेवाओं के लिए दिया जा रहा है. (सांकेतिक फोटो)


गृह मंत्रालय के पास 560 नामांकण पहुंचा था

वर्ष 2017-18 में ट्रेनिंग में जितेश ने बेहतरीन प्रदर्शन किया. यही वजह है कि उन्हें गृहमंत्री पुलिस पदक के सम्मान के लिए चयनित किया गया है. यह पदक जितेश को 26 जनवरी 2020 को दिया जाएगा. गृह मंत्रालय के पास इसके लिए 560 नामांकन प्राप्त हुए थे, जिनमें से 245 पुलिस अधिकारियों का चयन किया गया है.

पिता रिटायर्ड सैनिक, भाई दे रहे हैं सेना में सेवाएं
Loading...

जितेश की शुरूआती पढ़ाई सीनियर सकैंडरी स्कूल चैकी चंद्राहण से हुई. इसके बाद जितेश ने पाॅलिटेक्निक काॅलेज सुंदरनगर, वल्लभ महाविद्यालय मंडी और कुरूक्षेत्र यूनिवर्सिटी से अपनी आगे की पढ़ाई की. जितेश के पिता सुखराम भारतीय सेना से रिटायर हुए हैं जबकि माता गृहिणी हैं. छोटा भाई खुशहाल भी सेना में अपनी सेवाएं दे रहा है.

जितेश रांची में अपनी सेवाएं दे रहे हैं

इन दिनों जितेश झारखंड राज्य के रांची में अपनी सेवाएं दे रहे हैं. जितेश ने अपनी इस कामयाबी का श्रेय अपनी मेहनत और माता-पिता को दिया है. जितेश का कहना है कि भविष्य में भी वह अपने काम को इसी निष्ठा से करता रहेगा.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस MLA ने कहा, जनमंच में क्रिमिनल और रेवन्यू के केस सुने जा रहे हैं

वायरल लेटर पर हेल्थ मिनिस्टर विपिन सिंह परमार ने कहा, घिनौनी चाल चलने वाले जल्द होंगे बेनकाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 7:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...