लोकसभा चुनाव-2019: हिमाचल से ये हैं सबसे अमीर प्रत्याशी

गौरतलब है कि हिमाचल में चारों सीटों पर 45 प्रत्याशी मैदान में हैं. सबसे ज्यादा 17 प्रत्याशी मंडी सीट पर उतरे थे. कांगड़ा और हमीरपुर में 11-11 और शिमला में छह प्रत्याशी मैदान में हैं. इस वजह से यहां दो ईवीएम के जरिये वोटिंग हुई है. वहीं, इस बार लोकसभा चुनाव में बीते 42 साल का वोटिंग का रिकॉर्ड टूटा है और रिकॉर्डतोड़ 73 फीसदी के करीब वोटिंग हुई है.

News18 Himachal Pradesh
Updated: May 23, 2019, 9:17 AM IST
लोकसभा चुनाव-2019: हिमाचल से ये हैं सबसे अमीर प्रत्याशी
देवराज मंडी सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.
News18 Himachal Pradesh
Updated: May 23, 2019, 9:17 AM IST
लोकसभा चुनाव 2019 के लिए चुनावी नतीजों के लिए काउंटिंग जारी है. हिमाचल प्रदेश में 55 उम्मीदवारों ने अपना नामांकन दाखिल किया है. छंटनी प्रक्रिया के दौरान 9 प्रत्याशियों के नामांकन रद्द हुए और एक प्रत्याशी ने नामांकन वापस लिया था. नामांकन में उम्मीदवारों ने अपनी चल अचल संपत्ति का भी ब्यौरा दिया है.

मंडी सीट का ब्यौरा
मंडी सीट से भाजपा और कांग्रेस में मुख्य मुकाबला है. कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा के पास कुल 97 लाख 69 हजार 270 रूपये की चल और 2 करोड़ 43 लाख 60 हजार रुपये की अचल संपत्ति है. आश्रय शर्मा कुल 3 करोड़ 41 लाख की संपत्ति के मालिक हैं. वहीं, भाजपा सांसद राम स्वरूप की चल संपत्ति में ही 26,27,983 रुपये बढ़ोतरी हुई है. अचल संपत्ति पिछले लोकसभा चुनावों के दौरान 50 लाख थी, अब वह 62 लाख के करीब हो चुकी है. इसमें 12 लाख की बढ़ोतरी हुई है. वहीं, उनकी कुल संपत्ति में 38 लाख बढ़ोतरी हुई है. उनकी पत्नी के पास 2014 में 19,73,316 रुपये की चल संपत्ति थी, अब वह 28,90,799 हो गई है. मंडी से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में सोलन के रहने वाले देवराज भारद्वाज सबसे अमीर प्रत्याशी हैं. उन्होंने 69 करोड़ की चल अचल संपत्ति का ब्यौरा दिया है. देवराज भारद्वाज इससे पहले हमीरपुर संसदीय सीट से भी चुनाव लड़ चुके हैं. मंडी से सीपीआईएम प्रत्याशी दलीप कायथ के पास 1 लाख 33 हजार और तीन करोड़ 79 लाख की अचल संपत्ति है.

हमीरपुर सीट में मुकाबला

हमीरपुर से भाजपा के अनुराग ठाकुर और कांग्रेस के राम लाल ठाकुर में प्रमुख मुकाबला है. कांग्रेस प्रत्याशी रामलाल ठाकुर के पास कुल चल और अचल संपत्ति 3 करोड़ 48 लाख है, जिसमें चल संपत्ति 45 लाख 39 हजार और अचल संपत्ति 3 करोड़ 3 लाख है. विधानसभा चुनाव के समय रामलाल ठाकुर की कुल चल और अचल संपत्ति 3 करोड़ 29 लाख थी. इस तरह से डेढ़ साल में यह 19 लाख रूपये बढ़ गई है. हमीरपुर से बीजेपी प्रत्याशी अनुराग ठाकुर ने वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में अनुराग ने चुनाव आयोग के दिए शपथपत्र में चल और अचल संपत्ति 4.62 करोड़ बताई है. मौजूदा शपथपत्र में अपनी संपत्ति 5.67 करोड़ बताई है. ऐसे में अनुराग की संपत्ति पांच सालों में 1 करोड़ 5 लाख बढ़ी. अनुराग ठाकुर के खिलाफ तीन मामले भी दर्ज हैं.

शिमला के आंकड़े
शिमला से कांग्रेस प्रत्याशी कर्नल धनीराम शांडिल के पास कुल चल-अचल संपत्ति 3 करोड़ 68 लाख की संपत्ति है. शांडिल के पास 1 करोड़ 61 लाख चल और 2 करोड़ 8 लाख अचल संपत्ति है. वहीं, भाजपा प्रत्याशी सुरेश कश्यप के पास 2 करोड़ 28 लाख की चल-अचल संपत्ति है, जिसमें चल संपत्ति 58 लाख और अचल संपत्ति 1 करोड़ 70 लाख है.
Loading...

कांगड़ा संसदीय क्षेत्र
कांगड़ा संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी किशन कपूर के पास 8 करोड़ 75 लाख रुपये की चल-अचल संपत्ति थी, जो 2017 में 8 करोड़ 28 लाख रुपये थी. डेढ़ साल में किशन कपूर की संपत्ति में करीब 47 लाख रूपये की वृद्धि हुई है. कांगड़ा संसदीय क्षेत्र से बीएसपी प्रत्याशी केहर सिंह के पास 7 करोड़ 12 लाख चल और 80 लाख अचल संपत्ति है. स्वाभिमान पार्टी के उम्मीदवार स्वरूप सिंह राणा के पास 48 लाख 86 हजार रुपये की चल और 3 करोड़ 50 लाख रुपये की अचल संपत्ति है. नवभारत एकता दल के पीसी विश्वकर्मा के पास अचल संपत्ति 17 लाख 44 हजार और अचल संपत्ति 5 करोड़ 1 लाख 50 हजार रुपये है. कांगड़ा संसदीय क्षेत्र से हिमाचल जनंक्रांति पार्टी के प्रत्याशी सुभाष शर्मा के पास 12 लाख 19 हजार की चल और 35 लाख रुपये की अचल संपत्ति है.

गौरतलब है कि हिमाचल में चारों सीटों पर 45 प्रत्याशी मैदान में हैं. सबसे ज्यादा 17 प्रत्याशी मंडी सीट पर उतरे थे. कांगड़ा और हमीरपुर में 11-11 और शिमला में छह प्रत्याशी मैदान में हैं. इस वजह से यहां दो ईवीएम के जरिये वोटिंग हुई है. वहीं, इस बार लोकसभा चुनाव में बीते 42 साल का वोटिंग का रिकॉर्ड टूटा है और रिकॉर्डतोड़ 73 फीसदी के करीब वोटिंग हुई है.
First published: May 23, 2019, 9:17 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...