लाइव टीवी

VIDEO: यहां कुत्ते हुए पागल, एक दर्जन से ज्यादा लोगों को काटा, पब्लिक लेने लगी जान

Nitesh Saini | News18 Himachal Pradesh
Updated: October 21, 2019, 3:04 PM IST
VIDEO: यहां कुत्ते हुए पागल, एक दर्जन से ज्यादा लोगों को काटा, पब्लिक लेने लगी जान
मंडी जिले के सुंदरनगर शहर में कुत्तों के आतंक से जनता में खौफ का माहौल है.

मंडी के सुंदरनगर में पागल कुत्तों के काटने के बाद प्रशासन ने उन्हें मारने का कोई इंतजाम नहीं किया तब लोगों ने खुद ही कुत्ते को मौत के घाट उतारना शुरू कर दिया.

  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश में मंडी जिले के सुंदरनगर शहर में कुत्तों के आतंक (Terror of Dogs) से जनता में खौफ का माहौल है. नगर परिषद सुंदरनगर के तहत आने वाले विभिन वार्डों सहित बीबीएमबी कॉलोनी BBMB()पागल कुत्तों की वजह से लोग परेशान हैं. बीबीएमबी कॉलोनी में पागल कुत्ते ने एक दर्जन लोगों को शिकार बना डाला. इसमें कुते (Dog Bite) को मारने दौड़ा एक व्यक्ति भी बुरी तरह से जख्मी हो गया. इसी बीच कुते के काटने से घायल हुए लोग जब सिविल हॉस्पिटल पहुंचे तो वहां पर ना तो रेबीज का इंजेक्शन था ना ही दवा का कोई इंतजाम. घायल को 108 की सहायता से नेरचौक मेडिकल कॉलेज भेजा गया, लेकिन वहां भी कोई उपचार नही हो पाया, जिससे मरीजों और तामीरदारों को भारी परेशानी झेलनी पड़ी है.

कुत्ते को खुद ही लोगों ने लगा दिया ठिकाने

पागल कुत्ते के काटने के बाद प्रशासन के पास कुत्ते को मारने का कोई इंतजाम नहीं होने पर लोगों ने कुत्ते को स्वयं ही मौत के घाट उतार डाला. गौरतलब है कि पहले भी लोगों ने प्रसाशन से मांग की थी कि पागल कुत्तों को जहर देकर मारा जाए या पकड़ा जाए, लेकिन नगर परिषद का कहना था कि वह सिर्फ मृत कुते को उठा सकते है.



व्यापार मंडल ने कुत्तों के छुटकारा दिलाने की अपील की

इससे पूर्व भी बीबीएमबी कॉलोनी में एक पागल कुते ने लोगों पर हमला कर अनेक लोगो को घायल कर दिया था. व्यापार मंडल बीबीएमबी कॉलोनी के प्रधान अश्विनी सैनी ने प्रशासन से मांग की है कि पागल कुते को ठिकाने लगाने का उचित इंतजाम किया जाए और रैबीज के इंजेक्शन व दवा भी उपलब्ध करवाई जाए.

 
Loading...

यह भी पढ़ें: धर्मशाला सीट: कुछ बूथों पर सुविधाओं का अभाव, मोबाइल की रोशनी से डाले वोट

धर्मशाला सीट: भाजपा का रहा है दबदबा, इस बार मुकाबला रोचक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 3:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...