Home /News /himachal-pradesh /

drugs in himachal dharampur youth died due to chitta use brought drugs from punjab sarkaghat police raid peddler house hpvk

Drugs overdose Death: धीरज-पारुल ने हाशियारपुर से खरीदा था चिट्टा, पहले झाड़ियों में छुपाया शव, फिर दफनाया

सरकाघाट पुलिस ने मामले में पंजाब के होशियारपुर में दबिश दी है. क्योंकि धीरज और उसके दोस्त होशियारपुर से ही चिट्टा खरीदकर लाए थे.

सरकाघाट पुलिस ने मामले में पंजाब के होशियारपुर में दबिश दी है. क्योंकि धीरज और उसके दोस्त होशियारपुर से ही चिट्टा खरीदकर लाए थे.

Drug Overdose Death in Dharampur: पुलिस आरोपी पारुल की मां से भी पूछताछ कर रही है. दीक्षांत की कार, मोबाइल फोन और सिम अपने कब्जे में लिया गया है. नेरचौक मेडिकल कालेज में धीरज के शव का पोस्टमार्टम करने वाले फारेंसिक मेडिसिन विशेषज्ञों ने पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट सौंप दी है. रिपोर्ट में मौत के कारण स्पष्ट नहीं हैं और बिसरा रिपोर्ट से कारणों का पता चलेगा.

अधिक पढ़ें ...

मंडी. हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के सरकाघाट में 19 साल के धीरज की चिट्टे के सेवन के बाद मौत हो गई थी. डर के मारे उसके दोस्तों ने उसका शव खड्ड में दफना दिया था. परिजनों ने धीरत के लापता होने की रिपोर्ट लिखवाई थी. 14 दिन बाद धीरज की लाश को खड्ढ किनारे से निकाला गया था. अब मामले में और खुलासा हुआ है.

सरकाघाट पुलिस ने मामले में पंजाब के होशियारपुर में दबिश दी है. क्योंकि धीरज और उसके दोस्त होशियारपुर से ही चिट्टा खरीदकर लाए थे. हालांकि, सरकाघाट पुलिस को होशियारपुर से खाली हाथ लौटना पड़ा है, क्योंकि दोनों युवकों को चिट्टा बेचने वाला शख्स पुलिस के आने से पहले ही फरार हो गया था.

पूरे मामले में पता चला है कि आईटीआई समीरपुर के प्रशिक्षु धीरज ठाकुर और उसका दोस्त चिट्टा लाने के लिए 26 अप्रैल को होशियारपुर गए. वहां से तीन ग्राम चिट्टा खरीदा और उसी रात घर लौटे आए. पुलिस पूछताछ में पारुल ने होशियारपुर से चिट्टा लाने की बात मानी है. सरकाघाट पुलिस की एक टीम ने गुरुवार को होशियारपुर के चिट्टा सप्लायर के ठिकाने पर दबिश दी, लेकिन वह पुलिस के पहुंचने से फरार हो गया.

तीनों दोस्तों ने मिलकर किया था नशा

पारुल ने अपने घर में चिट्टे का नशा करने के लिए अपने दोस्त दीक्षांत व प्रिस को भी बुलाया था. तीनों ने मिलकर नशा किया. 27 अप्रैल की सुबह धीरज ठाकुर की मौत हो गई थी. पारुल ने धीरज के शव को बोरी में लपेट घर के समीप झाड़ियों में पत्ते आदि डालकर छिपा दिया. पारुल ने दीक्षांत और प्रिस को धीरज ठाकुर की मौत होने की जानकारी दी थी. इस पर रात को दीक्षांत अपनी कार लेकर आया था. धीरज ठाकुर के शव को झाड़ियों से निकाल कार में धर्मपुर के नलयाणा ले गए और वहां बक्कर खड्ड में गड्ढे में शव के ऊपर रेत और पत्थर डाल दिए थे.

दोस्त की मां से पूछताछ

पुलिस आरोपी पारुल की मां से भी पूछताछ कर रही है. दीक्षांत की कार, मोबाइल फोन और सिम अपने कब्जे में लिया गया है. नेरचौक मेडिकल कालेज में धीरज के शव का पोस्टमार्टम करने वाले फारेंसिक मेडिसिन विशेषज्ञों ने पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट सौंप दी है. रिपोर्ट में मौत के कारण स्पष्ट नहीं हैं और बिसरा रिपोर्ट से कारणों का पता चलेगा. चार दिन का पुलिस रिमांड समाप्त होने पर तीनों आरोपियों को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा. तिलक राज शांडिल्य, एसडीपीओ सरकाघाट ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ चल रही है. उन्होंने होशियारपुर से चिट्टा लाने की बात मानी है. फिलहाल, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण नहीं बताया गया है.

पूरे मामले को लेकर सियासत

मामला सामने आने के बाद धर्मपुर इलाके में सियासत भी गर्म हो गई थी. कांग्रेस नेता चंद्रशेखर ने पूरे मामले के बाद नशा के खिलाफ अभियान छेड़ने का ऐलान किया है. उन्होंने एक मोबाइल नंबर भी जारी किया है, जिस नशा तस्करी और अन्य जानकारी साझा की जा सकती है. वहीं, भाजपा नेता भी नशा के खिलाफ मुखर हो रहे हैं.

Tags: Drugs Peddler, Himachal pradesh, Mandi Police, Shimla News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर