सिलेंडर में ब्लास्ट: बेटी को बचाने घर में घुसे पिता, दोनों जिंदा जले

एसडीएम बालकृष्ण चौधरी ने बताया कि पीड़ित परिवार को नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा.

News18 Himachal Pradesh
Updated: May 24, 2019, 2:49 PM IST
सिलेंडर में ब्लास्ट: बेटी को बचाने घर में घुसे पिता, दोनों जिंदा जले
सिलेंडर ब्लास्ट के बाद घर में लगी आगी.
News18 Himachal Pradesh
Updated: May 24, 2019, 2:49 PM IST
बेटी को बचाने के लिए एक पिता आग की लपटों से जल रहे घर में घुस गया और दोनों जिंदा जल गए. मामला हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के सरकाघाट का है.

सरकाघाट के कशमैला में गैस सिलेंडर फटने से एक घर में आग लग गई और आग में दिव्यांग बेटी और पिता जिंदा जल गए. बेटी को बचाने के लिए पिता घर में घुसा था, लेकिन उसे बचा नहीं सका और खुद भी जल गया.



घटना वीरवार सुबह तड़के हुई है. मेहर चंद (65) रसोई में चाय बना रहा था. इस दौरान गैस रिसाव के कारण सिलेंडर ब्लास्ट हुआ. इस दौरान बेटी रसोई के ठीक ऊपर कमरे में सोई थी. आग लगने के बाद मेहर चंद घर से बाहर दौड़ा. लेकिन उसकी बेटी कमरे में सो रही थी और वह बेटी को बचाने के लिए कमरे की ओर भागे.

इस दौरान सिलेंडर में ब्लास्ट हो गया और पूरा मकान आग की चपेट में आ गया और दोनों जिंदा जल गए. लोगों ने दोनों को बचाने की कोशिश की, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी.

मेहर चंद का बेटा और बहू शिमला में नौकरी करते हैं. डीएसपी चंद्रपाल ने कहा कि शवों का पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है. प्रशासन की तरफ से मृतकों के परिजनों को 30 हजार फौरी राहत दी गई है. एसडीएम बालकृष्ण चौधरी ने बताया कि पीड़ित परिवार को नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: हिमाचल में BJP की 4 सीटों पर धमाकेदार जीत

लोस चुनाव: इन 6 वजहों से अनुराग ठाकुर ने लगाया जीत का ‘चौका’
Loading...

दादा सुखराम को रिक़ॉर्ड जीत मिली थी, पोते की रिकॉर्ड हार

मंडी से कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा की हार के पांच कारण!

55 साल के सियासी जीवन में ऐसी हार कभी नहीं देखी-वीरभद्र सिंह
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...