लाइव टीवी

FCI पर लगा शर्तों को दरकिनार कर दूसरी यूनियन को काम देने का आरोप

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 11, 2019, 11:41 PM IST
FCI पर लगा शर्तों को दरकिनार कर दूसरी यूनियन को काम देने का आरोप
डीसी मंडी ने मामले की पूरी जांच का दिलाया भरोसा

एफसीआई के गोदाम (Godown of FCI) पर एक बार फिर से मनमाने ढंग से काम करने के आरोप लगे हैं.

  • Share this:
मंडी. एफसीआई के गोदाम (Godown of FCI) पर एक बार फिर से मनमाने ढंग से काम करने के आरोप लगे हैं. यह आरोप सरकाघाट उपमंडल के तहत आने वाले कैंचीमोड़ स्थित FCI के गोदाम पर लगे हैं. आरोपों से संबंधित शिकायत 'दी भाम्बला ट्रक मिनी आपरेटर ट्रांसपोर्ट कोऑपरेटिव सोसायटी लि.' ने डीसी मंडी (Mandi) ऋग्वेद ठाकुर को सौंपी. सोसायटी के कानूनी सलाहकार संजय गुलेरिया ने बताया कि एफसीआई गोदाम कैंचीमोड़ के प्रबंधन ने नियमों के विपरीत किसी दूसरी ट्रक यूनियन को माल ढुलाई का काम दे दिया है. यह कार्य आवंटित करने के लिए कागजों में किलोमीटरों का हेरफेर किया गया है.

गाड़ियों में हो रही ओवरलोडिंग

उन्होंने कहा कि नियमों के तहत भाम्बला यूनियन को माल ढुलाई का कार्य मिलना चाहिए था, लेकिन किलोमीटरों में हेरफेर करके यह कार्य किसी दूसरी यूनियन को दिया गया. वहीं जिस यूनियन को काम दिया गया है उन्हें और ज्यादा लाभ पहुंचाने के लिए गाड़ियों में जमकर ओवरलोडिंग की जा रही है. एक गाड़ी में क्षमता से अधिक माल भेजा जा रहा है. यूनियन के प्रधान कमल सिंह का आरोप है कि कैंचीमोड़ गोदाम का प्रबंधन, यह सब उनसे पुरानी खुन्नस निकालने के लिए कर रहा है.

नियमों के तहत आवंटित किए जाएं  काम

बता दें कि 'दी भाम्बला ट्रक मिनी आपरेटर ट्रांसपोर्ट कोऑपरेटिव सोसायटी लि.' ने एफसीआई के गोदाम में चल रही मनमानियों को लेकर शिकायत सौंपी थी. इसकी पुलिस और विभाग ने जांच भी की थी. कमल सिंह का कहना है कि इसी रंजिश के चलते अब इनकी यूनियन को काम न देने के लिए यह सब षडयंत्र रचा जा रहा है. इन्होंने प्रशासन से मांग उठाई है कि जो कार्य आवंटित किया गया है उसे तुरंत प्रभाव से रद्द किया जाए और नियमों के तहत ही कार्य आवंटित किए जाएं.

ये भी पढ़ें - CPIM ने निगम पर लगाए गंभीर आरोप,कहा- हाउस के भीतर व बाहर भ्रष्टाचार का बोलबाला

ये भी पढ़ें - कुल्लू. निजी भूमि पर चरस की खेती करने के मामले में 6 आरोपी गिरफ्तार 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 11:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर