‘सरकारी अध्यापकों का पढ़ाई पर कम और तबादलों पर ज्यादा ध्यान’

News18 Himachal Pradesh
Updated: January 7, 2019, 6:13 PM IST
‘सरकारी अध्यापकों का पढ़ाई पर कम और तबादलों पर ज्यादा ध्यान’
मंडी में अनिल शर्मा.

अनिल शर्मा ने गुरु गोबिंद सिंह स्कूल के मेधावी बच्चों को पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया और बच्चों से भविष्य में खूब मेहनत करने का आह्वान भी किया. वहीं उन्होंने स्कूल प्रबंधन को बेहतर संचालन के लिए बधाई भी दी.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश के ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा ने सरकारी अध्यापकों की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए उनपर तीखा कटाक्ष किया है.

अनिल शर्मा का कहना है कि सरकारी स्कूलों के अध्यापकों का पढ़ाई और परिणाम की तरफ कम, जबकि तबादलों की तरफ ज्यादा ध्यान रहता है. यह बात उन्होंने सोमवार को मंडी में गुरु गोबिंद सिंह पब्लिक स्कूल के वार्षिक समारोह के दौरान कही.

अनिल शर्मा ने कहा कि निजी स्कूलों के अध्यापक कमिटमेंट के साथ कार्य करते हैं और बेहतर परिणाम देते हैं, जबकि सरकारी स्कूलों के अध्यापक ऐसी किसी कमिटमेंट के साथ काम नहीं करते. उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों के अध्यापकों को सिर्फ अपने तबादलों की पड़ी रहती है.

अधिकतर अध्यापक यही देखते हैं कि घर के नजदीक किस स्कूल में एडजेस्टमेंट करवाई जा सके, ताकि आने-जाने में सुविधा हो सके. उन्होंने कहा कि रोजाना उन्हें इस प्रकार के तबादलों के आवेदनों से जूझना पड़ता है. उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में सुविधाओं की कमी नहीं है, बल्कि यहां पर अध्यापकों को कमिटमेंट के साथ काम करने की जरूरत है.

अनिल शर्मा ने गुरु गोबिंद सिंह स्कूल के मेधावी बच्चों को पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया और बच्चों से भविष्य में खूब मेहनत करने का आह्वान भी किया. वहीं उन्होंने स्कूल प्रबंधन को बेहतर संचालन के लिए बधाई भी दी.

ये भी पढ़ें : चक्रवाती तूफान में फंसे हिमाचल के 5 विधायक, क्रूज से किए रेस्क्यू

व्यापारी को गोली मारकर 8 लाख रुपये लूटे, बाइक सवार लुटेरे फरार
Loading...

PHOTOS: हिमाचल के 8 जिलों में हुई बर्फबारी, शिमला में ठंड का रिकॉर्ड टूटा

सीएम जयराम ठाकुर ने सराज विधानसभा क्षेत्र में किए करोड़ों के शिलान्यास और उद्घाटन

बर्फबारी के बाद चांदी की तरह चमकी मनाली की वादियां, देखिये 12 तस्वीरें

टैक्सी चालक युसूफ ने सैलानी का 87 हजार का मोबाइल लौटा कर दिखाई ईमानदारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 7, 2019, 5:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...