अपना शहर चुनें

States

स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ने वीरभद्र सिंह पर फोड़ा अपनी हार का ठीकरा, कहा- मुझे हराने में पीछे उनकी भूमिका

मंडी के द्रंग सेे हारे कौल सिंह ठाकुर.
मंडी के द्रंग सेे हारे कौल सिंह ठाकुर.

हिमाचल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के कई कद्दावर नेताओं को हार का सामना करना पड़ा है. इनमें से मंडी से स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर भी शामिल हैं. उन्हें भाजपा के जवाहर ठाकुर ने हराया. कौल सिंह का यह नौवां चुनाव था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 19, 2017, 1:52 PM IST
  • Share this:
हिमाचल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के कई कद्दावर नेताओं को हार का सामना करना पड़ा है. इनमें से मंडी से स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर भी शामिल हैं. उन्हें भाजपा के जवाहर ठाकुर ने हराया. कौल सिंह का यह नौवां चुनाव था.हार के बाद कौल सिंह ठाकुर ने न्यूज-18 से बातचीत में उन्होंने अपनी हार का ठीकरा वीरभद्र सिंह पर फोड़ा. कौल सिंह ने कहा कि उनकी हार के पीछे वीरभद्र सिंह का हाथ है.

वीरभद्र सिंह के समर्थक बन चुके पूर्ण चंद ठाकुर को अपनी हार के लिए जिम्मेवार ठहराया है. बता दें कि पूर्ण चंद ने बतौर आजाद प्रत्याशी द्रंग सीट से 7672 वोट हासिल किए. द्रंग से कौल सिंह की हार का मार्जन 6541 वोट रहा.

‘जनता को विकास हजम नहीं हुआ’
कौल सिंह ने कहा कि प्रदेश की जनता का ज्यादा विकास हजम नहीं हुआ.लोगों ने विकास के खिलाफ मतदान किया है. यह बात उन्होंने मंडी में न्यूज18 से कही. कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्ण चंद ठाकुर को वीरभद्र सिंह की पूरी स्पोर्ट थी.
इस बात को पूर्ण चंद खुले मंच से कहता था. उन्होंने पूर्ण चंद ठाकुर पर लगाम लगाने के लिए कई बार वीरभद्र सिंह से बात की, लेकिन वीरभद्र सिंह इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया. कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्ण चंद ठाकुर सिर्फ उन्हें हराने के लिए चुनावी मैदान में उतरा था। उन्होंने कहा कि पूर्ण चंद ठाकुर ने कांग्रेस के ही वोट काटे और यदि यह वोट उन्हें मिल जाते तो वह फिर से विधानसभा में होते.



प्रदेश की जनता को इस बार ज्यादा विकास हजम नहीं हुआ. जनता ने विकास के खिलाफ मतदान किया और दिग्गजों को धराशाही कर दिया. कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जहां पर ज्यादा विकास करवाया था. वहीं पर ही दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ा.

प्रदेश की जनता को बदहजमी हुई है : कौल सिंह
कौल सिंह यहां भी नहीं रुके. हार के लिए जनता को भी आड़े हाथों लिया. कहा-जिस प्रकार कई बार ज्यादा खाने से बदहजमी हो जाती है, वैसी ही बदहजमी इस बार प्रदेश की जनता को हो गई.

अब पांच वर्षों में प्रदेश की जनता को पता चलेगा कि भाजपा कितना विकास करवाती है और फिर जनता को तुलना करने का मौका मिलेगा. कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि अगले पांच वर्षों तक वह पार्टी की सेवा करेंगे, 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी को इस तरह से तैयार करेंगे कि कांग्रेस भारी बहुमत के साथ सरकार बनाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज