Home /News /himachal-pradesh /

himachal assembly elections congress leader aashray sharma did not want to fight elections hpvk

Himachal Assembly Elections: आश्रय शर्मा बोले-वीरभद्र सिंह परिवार से मतभेद हैं, चुनाव लड़ने की इच्छा नहीं

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव आश्रय शर्मा का कहना है कि उनकी चुनाव लड़ने की कोई इच्छा नहीं है.

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव आश्रय शर्मा का कहना है कि उनकी चुनाव लड़ने की कोई इच्छा नहीं है.

Himachal Assembly Elections: आश्रय शर्मा के पिता फिलहाल मंडी सदर से भाजपा विधायक हैं और बेटा कांग्रेस में है. 2019 के लोकसभा चुनाव में आश्रय ने मंडी से चुनाव लड़ा था. इसमें उन्हें हार मिली थी. उनके कांग्रेस में जाने की वजह से अनिल शर्मा को कैबिनेट से इस्तीफा देना पड़ा था.

अधिक पढ़ें ...

मंडी. हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव आश्रय शर्मा का कहना है कि उनकी चुनाव लड़ने की कोई इच्छा नहीं है और संगठन की तरफ से उन्हें जो दायित्व सौंपा गया है, वे उसी का बखूबी निर्वहन करेंगे. यह बात उन्होंने मंडी में न्यूज-18 के साथ खास बातचीत में कही. आश्रय शर्मा ने कहा कि वे राजनीति में लोगों की सेवा करने के उद्देश्य से आए हैं. 2019 में जब पार्टी ने चुनाव लड़ने का आदेश दिया तो उसे लड़ा, अगर आगे भी संगठन ऐसा निर्देश देगा तो उसका पालन किया जाएगा, लेकिन सिर्फ चुनाव लड़ने के लिए राजनीति में आने की मंशा से नहीं आया हूं. अभी भी चुनाव लड़ने का कोई ईरादा नहीं है.

मतभेद हैं, लेकिन मनभेद नहीं

आश्रय ने कहा कि स्व. वीरभद्र सिंह परिवार के साथ मतभेद जरूर हो सकते हैं, लेकिन मनभेद कभी नहीं रहा. हालांकि, बड़े परिवारों में ऐसी खिंचातान होती रहती है. दूसरे दलों में भी ऐसी खींचतान है, लेकिन उनकी बंद कमरों में रहती है और हमारी थोड़ी सार्वजनिक हो गई है. पंडित सुखराम ने विकास के जो काम किए हैं, लोग आज भी उन्हें याद करते हैं. उनके बताए मार्ग पर ही चलने का प्रयास कर रहा हूं. उनकी वजह से आज भी लोगों का पूरा मान-सम्मान और प्यार मिल रहा है. संगठन ने अब मीडिया और सोशल मीडिया समन्वय समिति का दायित्व सौंपा है.

इस दायित्व को सही ढंग से निभाने की दिशा में कार्य किया जाएगा. पूरे प्रदेश में मीडिया के साथ समन्वय स्थापित किया जाएगा. मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से पूरे प्रदेश में पार्टी की नीतियों को घर-घर तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा। जल्द ही कमेटी बनाकर इस दिशा में कार्य शुरू कर दिया जाएगा.

पिता भाजपा में, बेटा कांग्रेसी
बता दें कि आश्रय शर्मा के पिता फिलहाल मंडी सदर से भाजपा विधायक हैं और बेटा कांग्रेस में है. 2019 के लोकसभा चुनाव में आश्रय ने मंडी से चुनाव लड़ा था. इसमें उन्हें हार मिली थी. उनके कांग्रेस में जाने की वजह से अनिल शर्मा को कैबिनेट से इस्तीफा देना पड़ा था.

Tags: Himachal, Himachal Congress, Himachal election, Himachal Government, Himachal pradesh, Shimla News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर