हिमाचल: विदेशी निवेशकों ने अभी तक 23 हजार करोड़ के किए MoU साइन: जयराम ठाकुर

हिमाचल प्रदेश निवेशकों की पसंद बनता जा रहा है. प्रदेश में अभी तक विदेशी निवेशकों ने लगभग 23 हजार करोड़ के एमओयू साइन किए हैं.

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 14, 2019, 9:57 AM IST
हिमाचल: विदेशी निवेशकों ने अभी तक 23 हजार करोड़ के किए MoU साइन: जयराम ठाकुर
हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि विदेशी निवेश से प्रदेश की आर्थिकी सुधरेगी
Virender Bhardwaj
Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 14, 2019, 9:57 AM IST
हिमाचल प्रदेश निवेशकों की पसंद बनता जा रहा है. प्रदेश में अभी तक विदेशी निवेशकों ने लगभग 23 हजार करोड़ के एमओयू साइन किए हैं. आने वाले समय में भी प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में विकास को आगे बढाने के लिए निवेशकों को खुला आफर सरकार के द्वारा दिया गया है और निवेशक आने वाले समय में हिमाचल प्रदेश में निवेश करने के लिए काफी उत्साहित दिखाई दे रहे हैं. यह जानकारी दिल्ली में हाल ही में संपन्न हुई निवेशकों की बैठक के दौरान हिमाचल पहुंचे प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंडी में दी. पत्रकारों के साथ की गई अनौपचारिक बातचीत के दौरान उन्होने बताया कि दिल्ली में संपन्न हुई 50 देशों के निवेशकों के साथ बैठक काफी सकारात्मक रही है.

'भविष्य में स्वास्थ्य सेंटरों के माध्यम से टूरिज्म को दिया जाएगा बढ़ावा'



सीएम जयराम ठाकुर-CM jairam thakur
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में आने वाले समय में स्वास्थ्य सेंटरों के माध्यम से भी टूरिज्म को बढ़ावा देने पर बल दिया जाएगा.


जयराम ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि उन्होने निवेशकों को प्रदेश में टूरिज्म, स्वास्थ्य टूरिज्म, होटल, ट्रैकिंग, कैंपिंग, इको टूरिज्म के साथ-साथ किसी भी क्षेत्र में निवेश करने का खुला आॅफर दिया है. इसके साथ ही प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में आने वाले समय में स्वास्थ्य सेंटरों के माध्यम से भी टूरिज्म को बढ़ावा देने पर बल दिया जाएगा.

'अब किसानों और बागवानों को नहीं होगी परेशानी'

उन्होने कहा कि प्रदेश में फलों और सब्जियों का काफी कारोबार होता है लेकिन फसल समय पर मंडियों में पहुंचाने के लिए सही चैन नहीं है जिससे कि किसानोें बागवानों को काफी पेरशानी का सामना करना पड़ता है. इसलिए कुछ निवेशक किसानों और बागवानों की फसलों को समय पर मार्केट मुहैया करवाने या फिर खेतों में ही फसलों के सही दाम मिलने के बारे में भी विचार किया जा रहा है.

'हिमाचल प्रदेश निवेशकों की पहली पसंद बन जाएगा'
Loading...

उन्होने उम्मीद जताते हुए कहा कि जिस प्रकार से निवेशकों का रूझान हिमाचल की तरफ बन रहा है उससे यही प्रतीत होता है कि आने वाले समय में हिमाचल प्रदेश निवेशकों की पहली पसंद बन जाएगा जिससे संभवतः प्रदेश की आर्थिकी में भी सुधार होने की संभावना है.

यह भी पढ़ें: IPH टैंक से पानी नहीं कर पाया शुरू तो दानकर्ता को ही ठहराया दोषी

मानसून: हादसों में लागों की जा रही है जान, अधिकारी कहते हैं- तैयारी है मुकम्मल
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...