Mission Paani: अब स्नो हारवेस्टिंग करेगी हिमाचल सरकार

इस योजना के तहत 14-15 हजार फुट की उंचाई पर जो बर्फ होगी, उसे वहीं पर ही रोकने का प्रयास होगा, ताकि तपती गर्मी में यह बर्फ पिघल कर जल के रूप में इस्तेमाल की जा सके.

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 1, 2019, 9:58 AM IST
Mission Paani: अब स्नो हारवेस्टिंग करेगी हिमाचल सरकार
हिमाचल में स्नोफॉल.
Virender Bhardwaj
Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 1, 2019, 9:58 AM IST
जल संग्रहण को लेकर केंद्र से लेकर हिमाचल प्रदेश सरकार पूरी तरह से चिंतित है और इस दिशा में कई प्रयास भी किए जा रहे हैं, लेकिन हिमाचल सरकार जल संग्रहण से एक कदम आगे बढ़कर बर्फ संग्रहण की तरफ बढ़ने जा रही है. राज्य सरकार ने प्रदेश में स्नो हारवेस्टिंग को लेकर काम करना शुरू कर दिया है. आईपीएच विभाग ने इसके लिए पूरा मास्टर प्लान भी तैयार कर लिया है. इसकी पुष्टि खुद आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने की है.

ऐसे सिरे चढ़ेगी योजना
महेंद्र सिंह ठाकुर के अनुसार, 14-15 हजार फुट की उंचाई वाले पहाड़ों पर जो बर्फ गिरती है, वह समय से पहले हिमस्खलन के कारण 7-8 हजार फुट की ऊंचाई पर आ जाती है. इससे बर्फ समय से पहले पिघल जाती है और गर्मियों के मौसम में उसका कोई लाभ नहीं मिलता. ऐसे में सरकार ने अब स्नो हारवेस्टिंग के जरिये बर्फ को पहाड़ों पर ही संग्रहित करने की योजना बनाई है. इस योजना के तहत 14-15 हजार फुट की उंचाई पर जो बर्फ होगी, उसे वहीं पर ही रोकने का प्रयास होगा, ताकि तपती गर्मी में यह बर्फ पिघल कर जल के रूप में इस्तेमाल की जा सके. महेंद्र सिंह ठाकुर के अनुसार विभाग ने इसका मास्टर प्लान तैयार कर दिया है और जल्द ही इस दिशा में कार्य भी शुरू कर दिया जाएगा.

ये भी करेगी सरकार

राज्य सरकार धरती के नीचे घट रहे जलस्तर को लेकर भी पूरी तरह से काम करने जा रही है, जो हैंडपंप सूख चुके हैं या फिर सूखने की कगार पर हैं उनके पास छोटे-छोटे तालाबों का निर्माण किया जाएगा, ताकि इनमें पानी ठहरे और फिर वह पानी जमीन के नीचे समाहित हो जाए. इससे सूख चुके हैंडपंप दोबारा से पानी देने लगेंगे और जमीन के अंदर के जलस्तर में भी सुधार आएगा.

Leh ice pyramid
सोनम ने लद्दाख में पानी की कमी से जूझ रहे लोगों के लिए 'आइस पिरामिड' बनाया था


लेह में अनूठा प्रयोग
Loading...

लेह-लद्दाख में पानी के समस्या को लेकर सोनम सोनम वांगचुक एक अनूठा प्रयोग किया था और जो काफी लोकप्रिय रहा है. सोनम ने लद्दाख में पानी की कमी से जूझ रहे लोगों के लिए 'आइस पिरामिड' बनाया है, जिससे यहां लंबे समय के लिए पानी स्टोर किया जा सके. इस पिरामिड से लद्दाख में पानी की कमी और सिंचाई की मुश्किलों से पार पाया गया है.

ये भी पढ़ें: झुका नगर निगम, पुरानी दरों पर ही वसूला जाएगा सीवरेज सेस

हिमाचल में मूसलाधार बारिश, अब तक 22 मौतें, 138 करोड़ नुकसान

चिट्टे के साथ युवक का वीडियो बनाने वाले 3 युवक गिरफ्तार

दिल्ली, पंजाब के बाद हिमाचल में बेची युवती, अब तक 5 गिरफ्तार

PHOTOS: शिमला के सुन्नी में ट्रक हादसा, चालक और कंडक्टर घायल

हिमाचल सरकार सुनो पुकार! पढ़ाई के लिए करवाओ नाला पार
First published: August 1, 2019, 9:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...