HP Board 10th results: मंडी के ऑटो चालक की बेटी निशा ने मेरिट में बनाई जगह, डॉक्टर बनना सपना
Mandi News in Hindi

HP Board 10th results: मंडी के ऑटो चालक की बेटी निशा ने मेरिट में बनाई जगह, डॉक्टर बनना सपना
हिमाचल बोर्ड की दसवीं की परीक्षा में पांचवां हासिल करने वाली निशा मंडी से हैं.

HP Board 10th results: दसवीं कक्षा की मैरिट लिस्ट में मंडी जिला के सरकारी स्कूल (Government School) पिछड़ गए हैं. मैरिट में आए चारों विद्यार्थी निजी स्कूल के हैं.

  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश शिक्षा बोर्ड (Himachal Board Results) ने दसवीं कक्षा का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया है. इसमें मंडी जिला के 4 विद्यार्थियों ने मैरिट में जगह बनाई है. ऑटो चालक की बेटी निशा ने अपनी लगन और मेहनत के दम पर मैरिट में पांचवां स्थान हासिल किया है. निशा ने 98.14 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं. स्वामी विवेकानंद सीनियर सेकेंडरी स्कूल रामनगर मंडी (Mandi) की छात्रा निशा पुत्री संदीप ने टॉप टेन में अपना 5वां स्थान हासिल कर 687 अंक प्राप्त किए हैं. निशा मंडी के रानी बाई की रहने वाली है. वह बड़ा होकर डॉक्टर बनना चाहती है. निशा ने अपनी मेहनत का श्रेय प्रधानाचार्य विरेंद्र कुमार और स्कूल स्टाफ को दिया.

निशा की पढ़ाई फ्री
निशा ने बताया कि वह प्रतिदिन 7-8 घंटे पढ़ाई करती थी. इसके पिता ऑटो चलाते हैं. निशा के 5वां स्थान हासिल करने पर प्रधानाचार्य ने निशा को जमा दो की पढ़ाई निशुल्क करने की घोषणा की. वहीं, एसेंट पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल पधर के आयुष ने 97.57 प्रतिशत अंक लेते हुए मैरिट में नौवां स्थान हासिल किया है. आयुष ठाकुर मूलतः चौहारघाटी का निवासी है. माता-पिता दोनों अध्यापक हैं. आयुष डॉक्टर बनना चाहता है, जिसने प्लस वन में मेडिकल नॉन मेडिकल सब्जेक्ट रखकर पढ़ाई शुरू की है.

मंडी के अन्य होनहार बच्चे.
मंडी के अन्य होनहार बच्चे.

ये भी निकले होनहार


मंडी जिला जोगिंद्रनगर के होली फादर पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल सैंथल वंशिका शर्मा ने 97.57 प्रतिशत अंक लेकर मैरिट में नौवां स्थान झटका है. वंशिका शर्मा बड़े होकर वैज्ञानिक बनना चाहती है. उनका सपना नए अविष्कार कर देश सेवा करना है. वंशिका का कहना है कि उसने माता-पिता के सहयोग और शिक्षकों के मार्गदर्शन से इस मुकाम को पाया है. वहीं स्कूल प्रबंधन ने निदेशक नरेंद्र खनौड़िया ने इस उपलब्धि के लिए होनहार छात्रा व उसके परिजनों को बधाई दी है. उनके पिता उत्तम शर्मा शिक्षा विभाग के क्लेरिकल स्टाफ और मां गृहिणी हैं.

चारों बच्चे निजी स्कूल से
दसवीं की बोर्ड की परीक्षा में प्रदेश भर में दसवां स्थान स्थान हासिल करने वाली चेतना बड़े होकर चिकित्सक बनकर समाज सेवा करना चाहती है। उनके पिता बिजनसमैन और मां गृहणी है. चेतना साईगलू के ओजस पब्लिक स्कूल से दसवीं की पढ़ाई की है, बता दें कि दसवीं कक्षा की मैरिट लिस्ट में मंडी जिला के सरकारी स्कूल पिछड़ गए हैं. मैरिट में आए चारों विद्यार्थी निजी स्कूल के हैं.

ये भी पढ़ें: सेल्समैन पिता की बेटी ने किया 10वीं में टॉप, बनना चाहती है डॉक्टर

HP Board 10th Results: सेकेंड टॉपर क्षितिज बनना चाहते हैं साइटिंस्ट

हिमाचल प्रदेश 10वीं बोर्ड की थर्ड टॉपर अनिशा शर्मा बनना चाहती हैं IAS
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज