• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • हिमाचल: सरकाघाट में पार्क को लेकर ‌BJP विधायक और मंत्री महेंद्र सिंह आमने-सामने

हिमाचल: सरकाघाट में पार्क को लेकर ‌BJP विधायक और मंत्री महेंद्र सिंह आमने-सामने

सरकाघाट में पार्क निर्माण को लेकर स्थानीय विधायक और मंत्री में ठन गई है.

सरकाघाट में पार्क निर्माण को लेकर स्थानीय विधायक और मंत्री में ठन गई है.

Sarkaghat Park Issue: बीते 6 जून 2021 को सरकाघाट ओल्ड बस स्टैंड में सौंदर्यीकरण और पार्क को लेकर विधायक कर्नल इन्द्र सिंह ने शिलान्यास किया था. नगर परिषद के अधीन बनने वाले इस पार्क का 45 लाख रुपये का टेंडर लोक निर्माण विभाग ने आवंटित किया था.

  • Share this:
सरकाघाट (मंडी). हिमाचल प्रदेश में हमेशा सुर्खियों में रहने वाले कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर (Cabinet Minister Mahender Singh) एक बार फिर से चर्चा में हैं. इस बार वह अपने ही विधायक से टक्कर ले रहे हैं. मामला हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले से जुड़ा है. महेंद्र सिंह के विधानसभा क्षेत्र धर्मपुर के साथ के इलाके सरकाघाट का यह मामला है और भाजपा विधायक और मंत्री आमने सामने हो गए हैं.

दरअसल, सरकाघाट शहर के मेन बाज़ार में क़रीब 45 लाख से बनने वाले पार्क को लेकर जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर और स्थानीय विधायक कर्नल इंद्र सिंह ठाकुर आमने-सामने हो गए हैं. हाल ही में जहां विधायक ने इस प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया और काम युद्ध स्तर पर शुरू करवाया था. वहीं, अब जल शक्ति मंत्री ने बाजार का दौरा करके इस पार्क के निर्माण को तुरंत बंद करने के आदेश दिए हैं. अब एक बार फिर जल शक्ति मंत्री के अपने साथ लगते हलके में दखलअंदाजी करने से विधायक और कार्यकर्ताओं में रोष बढ़ गया है. एक वीडियो में महेंद्र सिंह मौके के दौरे के दौरान डीसी मंडी को फोन कर बात करते हैं और काम को रोकने की बात कहते हैं. डीसी एसडीएम सरकाघाट के बारे में कहते हैं तो मंत्री जवाब में कहते हैं कि जिस एसडीएम की देखरेख में यह काम शुरू हुआ था उसका तबादला हो गया है.

विधायक का साफ कहना है कि काम किसी भी हाल से बंद नहीं होगा और अतिक्रमण हर हालत में हटाया जाएगा. वहीं, निर्माण कार्य निर्माण बंद होने पर नगर परिषद ने कड़ा रवैया अख्तियार किया है.

इसी माह हुआ था शिलान्यास

बीते 6 जून 2021 को सरकाघाट ओल्ड बस स्टैंड में सौंदर्यीकरण और पार्क को लेकर विधायक कर्नल इन्द्र सिंह ने शिलान्यास किया था. नगर परिषद के अधीन बनने वाले इस पार्क का 45 लाख रुपये का टेंडर लोक निर्माण विभाग ने आवंटित किया था. ठेकेदार ने पार्क का काम शुरू कर दिया था, लेकिन बीच में बाजार में हुए अवैध कब्जे ना हटाए जाने को लेकर ठेकेदार ने इसका काम बंद कर दिया था.

व्यापारियों को विधायक से मिली थी निराशा

इस पार्क का निर्माण बंद करवाने को लेकर करीब 2 सप्ताह पहले विधायक से बाज़ार के कुछ व्यापारी मिले थे और उन्हें पार्क साइट का दौरा करवाकर इस पार्क का काम रोकने का आग्रह किया था. परंतु विधायक ने दो टूक शब्दों में कह दिया था कि विकास कार्य किसी भी हाल में रोके नहीं जाएंगे, अगर व्यापारियों को इससे कोई समस्या है तो नगर परिषद के साथ बैठकर इस पार्क का नक़्शा री-डिजाइन करवाया जाएगा, परंतु क़ब्ज़े हर हाल में हटेंगे.

मंत्री की शरण पहुँचे व्यापारी

उसके बाद व्यापारियों ने जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर से गुहार लगाने बाद मंत्री ने अपने विधानसभा क्षेत्र धर्मपुर जाते हुए सरकाघाट बाजार में पार्क का निरीक्षण किया. उन्होंने डीसी मंडी को फोन पर ही इस पार्क का काम तुरंत बंद करने का निर्देश दिया. मंत्री ने तो यहां तक कह दिया कि पार्क बनने से सरकाघाट बाजार खत्म हो जाएगा अगर पार्क बनाना ही है तो इसे किसी रेस्ट हाउस में बना दो. मंत्री के आदेशों बाद जहां व्यापारियों ने स्वागत किया है. वहीं, नगर परिषद और विधायक ने इस पर कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है.

सरकाघाट में व्यापारियों से मुलाकात के दौरान डीसी से बात करते हुए मंत्री महेंद्र सिंह.


नगर परिषद ने की आपात बैठक, दिखाएं कड़े तेवर

नगर परिषद सरकाघाट की आपात बैठक अध्यक्ष अनूप कुमारी की अध्यक्षता में हुई, जिसमें पार्क के निर्माण पर रोड़ा अटकाए जाने को लेकर कड़े शब्दों में निंदा की गई. हाउस ने कहा कि अवैध कब्जा धारियों ने बाजार में अतिक्रमण कर रखा है और उन्हें ही दिक्कत हो रही है. अध्यक्षा ने साफ कहा कि न्यायालय ने पहले ही सरकाघाट बाजार से अतिक्रमण हटाने वाले आदेश दिए हैं. अगर व्यापारियों नें 4 दिनों के अंदर अतिक्रमण नहीं हटाया तो उन पर कानूनी कार्रवाई करके खुद अतिक्रमण हटा दिया जाएगा, ताकि सौंदर्यकर्ण के कार्य को पूरा किया जा सके.

तस्वीर छह जून की है. जब विधायक ने पार्क के निर्माण के काम का आगाजा किया था.


हर हाल में हटाया जाएगा अतिक्रमण बनेगा पार्क : कर्नल

विधायक कर्नल इंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि निर्वाचित नगर परिषद द्वारा सभी के लाभ के लिए और पुराने अतिक्रमण हटाने को लेकर पार्क बनाया जा रहा है. अगर किसी को आपत्ति है तो नगर परिषद को सभी के अनुरूप योजना में संशोधन करना चाहिए. अतिक्रमण करने वालों पर यह नहीं छोड़ा जाना चाहिए की पार्क बनाना है या नहीं बनाना है. सौंदर्य करण भी हर हालत में किया जाएगा और अतिक्रमण हर हाल में हटाया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज