• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • हिमाचल: गौतम गंभीर की बहन ने BJP MLA ससुर पर लगाया दहेज प्रताड़ना का आरोप, सलमान की बहन बचाव में उतरीं

हिमाचल: गौतम गंभीर की बहन ने BJP MLA ससुर पर लगाया दहेज प्रताड़ना का आरोप, सलमान की बहन बचाव में उतरीं

राधिका गंभीर, अनिल शर्मा और अर्पिता खान.

राधिका गंभीर, अनिल शर्मा और अर्पिता खान.

Mandi News; कांग्रेस के सीनियर नेता सुखराम के बेटे अनिल शर्मा भाजपा विधायक हैं. उनके दो बेटे हैं. एक आश्रय शर्मा दूसरे आयुष शर्मा. आश्रय की शादी राधिका तो आयुष की शादी अर्पिता खान से हुई है.

  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के सदर से भाजपा विधायक अनिल शर्मा के परिवार में सबकुछ ठीक नहीं है. परिवार की लड़ाई सोशल मीडिया के माध्यम से उजागर हुई है. गुरुवार शाम को सदर से भाजपा विधायक अनिल शर्मा की बड़ी बहू ने सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर अपने ससुर पर दहेज प्रताड़ना के गंभीर आरोप लगाए. कुछ समय बाद अनिल शर्मा के बेटे आश्रय शर्मा ने पोस्ट डालकर अपनी पत्नी की फेसबुक आईडी हैक होने की बात कहकर पर्दा डालना चाहा. इसके बाद अनिल शर्मा ने अपनी छोटी बहू यानी सलमान खान की बहन अर्पिता खान शर्मा की तरफ से भेजे गए संदेश को सोशल मीडिया पर शेयर करके परिवार की अंर्तकलह को जगजाहिर कर दिया. आपको सिलसिलेबार बताते हैं कि कब क्या हुआ और किसने क्या लिखा.

राधिका ने ससुर के भेजे नोटिस को शेयर किया

राधिका के आरोपों को बताने से पहले इनका थोड़ा परिचय करवा देते हैं. राधिका अनिल शर्मा की बड़ी बहू और आश्रय शर्मा की पत्नी है. दिल्ली में राधिका का मायका है और इनके पिता राजीव गंभीर कांग्रेस के नेता हैं. क्रिकेटर गौतम गंभीर राधिका के चचेरे भाई हैं.

क्या आरोप लगाए गए?
राधिका ने शाम करीब 7 बजे अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट डाली. इसमें उन्होंने ससुर अनिल शर्मा द्वारा भेजे गए नोटिस की कॉपी को शेयर किया और लिखा, 'आज मेरे ससुर ने मुझे हमारे होटल में सैलून चलाने के लिए नोटिस भेजा है. दहेज प्रताड़ना के 6 साल बाद जब मेरे परिवार ने उनको और पैसे देने से मना कर दिया तो उन्होंने मुझे यह नोटिस भेजा है. आज मेरे ससुराल वालों से मेरे सारे संबंध टूट गए हैं. यह सब सिर्फ इसलिए कि उन्हें अपने मंत्रालय से इस्तीफा देना पड़ा था. पैसे और सत्ता की भूख सब जानते हैं. 9 महीने की गर्भवती होने पर उन्होंने मुझे घर से निकाल दिया. एक शख्स जो 93 साल की उम्र के अपने ही पिता को घर से निकाल सकते हैं और अपने ही बेटे के साथ ऐसा कर सकते हैं, मैं उससे क्या उम्मीद कर सकती हूं. लेकिन, अगर मेरा परिवार यानी सदर के लोग मेरे साथ खड़े हैं तो मुझे किसी बात का डर नहीं है. हम पीछे हटने वाले नहीं हैं.'

पोस्ट डिलिट हुई और आश्रय ने स्पष्टीकरण दिया
करीब आधे घंटे बाद यह पोस्ट राधिका के अकाउंट से डिलीट कर दी गई. तब तक लोग इसके स्क्रिन शॉट ले चुके थे और उनका पोस्‍ट सोशल मीडिया में वायरल हो गया था. रात करीब पौने 9 बजे आश्रय शर्मा ने अपने फेसबुक अकाउंट से पोस्ट डाली और मामले को दबाने का प्रयास किया. उन्होंने लिखा, 'जरूरी सूचना: मेरी पत्नी राधिका गंभीर शर्मा का फेसबुक अकाउंट हैक हो गया है. उस अकाउंट से किसी ने हमारे पूरे परिवार को बदनाम करने की साजिश रची है. मेरा आप सभी से अनुरोध है कि आप उस अकाउंट से डाली गई पोस्ट को गंभीरता से न लें. हमारा परिवार पूरी तरह से एकजुट है और ऐसी कोई भी बात नहीं है जो उस पोस्ट के माध्यम से कही गई है.' इसके बाद लगने लगा कि शायद किसी ने सच में बदनाम करने की साजिश रची हो, लेकिन उसके बाद अनिल शर्मा ने एक पोस्ट डालकर पूरे मामले से पर्दा ही हटा दिया.

ससुर के पक्ष में उतरीं सलमान की बहन अर्पिता
रात करीब सवा 10 बजे अनिल शर्मा ने अपने फेसबुक अकाउंट पर मुंबई से अपनी छोटी बहू यानी सलमान खान की बहन अर्पिता खान शर्मा की तरफ से मंडी वासियों के नाम भेजे गए संदेश को शेयर किया. इससे पूरे परिवार का अंर्तकलह सामने आ गया. अर्पिता ने अपने भेजे हुए संदेश में लिखा, 'मैं यह संदेश बहू होने के नाते नहीं, बल्कि बेटी होने के नाते लिख रही हूं. एक मुस्लिम होने के बाद भी पिछले 7 वर्षों से इस परिवार ने मुझे अपने बच्चे की तरह अपनाया है. अनिल शर्मा मेरे ससुर ही नहीं, बल्कि मेरे पिता हैं और वे एक आदर्शवादी इंसान हैं. मैं हैरान हूं कि राधिका ने इस तरह के आरोप कैसे लगा दिए. हमारी शादी में दहेज जैसी कोई बात नहीं हुई थी. यहां तक कि अनिल शर्मा ने उपहार तक लेने से इनकार कर दिया था. राधिका ने अनिल शर्मा की वर्षों की मेहनत को मिट्टी करने की कोशिश की है. मेरे पास राधिका ने कई बार मंडी के प्रति अनाप-शनाप बातें कहीं और आज वो उसी मंडी की जनता से सहयोग मांग रही हैं. प्रेगनेंसी के दौरान घर से बाहर निकलने की बात पूरी तरह से झूठी है. राधिका उस समय हमारे दिल्ली वाले निवास पर थीं और उनका पूरा ख्याल रखा गया है. मेरी सास पहली इंसान थीं जो डिलीवरी के बाद हास्पिटल पहुंची थीं. परिवार की बातें बाहर करना हमारे उसूलों के खिलाफ है, लेकिन राधिका की परवरिश शायद अलग माहौल में हुई है जो इस तरह की बातें सरेआम कर रही हैं. मैं अपने ससुर अनिल शर्मा के साथ खड़ी हूं और जो आरोप लगाए जा रहे हैं वे बेबुनियाद और निजी स्वार्थ के लिए ही हैं.'

नोटिस भेजने से हुआ है सारा विवाद
अगर परिवार की इस अंर्तकलह के उजागर होने की बात को सही ढंग से समझा जाए तो अनिल शर्मा ने अपने बहू राधिका को जो नोटिस भेजा, उसी से यह सारा विवाद उपजा है. दरअसल, आश्रय और राधिका पिछले कुछ समय से दिल्ली में रह रहे हैं. ऐसे में राधिका को उनके ससुर की तरफ से भेजे गए नोटिस की कॉपी मिली और उसे उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर किया, जिससे यह सारा विवाद उपजा. नोटिस कुछ इस तरह का है- प्यारी राधिका। होटल द रिजेंट पॉम का एक हिस्सा आपको सैलून के रूप में रेंट बेसिस पर इस्तेमाल करने के लिए सितंबर 2018 में दिया गया था. उसको बनाने में 24 लाख खर्च आया था और इस खर्च को कंपनी द्वारा ही उठाया गया था. आपने एक बार भी इसका किराया नहीं दिया. इस सैलून से जो कमाई हुई उसको भी आपने अपने पास रखा और कंपनी को उससे कुछ नहीं मिला. मासिक किराया 65 हजार रुपये था जिसमें बिजली-पानी कंपनी की तरफ से था. आपने इसकी एक भी किश्त नहीं दी. 33 महीनों का यह किराया 21 लाख 45 हजार बनता है. अब होटल को लीज पर दे दिया गया है, इसलिए आप जल्द से जल्द इन पैसों का भुगतान करें ताकि आप कानूनी कार्रवाई से बच सकें.

सुखराम परिवार में रार?
इस पूरी कहानी का कुल मिलाकर यही निष्कर्ष निकल रहा है कि अनिल शर्मा और उनके बेटे और बहू के बीच पारिवारिक संबंध पिछले काफी लंबे समय से ठीक नहीं चल रहे थे. हालांकि, ये बातें कभी सामने नहीं आतीं अगर होटल को लीज पर न देते और बहू को नोटिस न भेजा जाता. लेकिन, यह सब कुछ हुआ और फिर सोशल मीडिया ने परिवार की आंतरिक कलह खोलकर रख दी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज