Home /News /himachal-pradesh /

हिमाचल: बल्ह हवाई अड्डे के विरोध में धरना, कहा-किसानों को विश्वास में न लेकर एकतरफा फैसला

हिमाचल: बल्ह हवाई अड्डे के विरोध में धरना, कहा-किसानों को विश्वास में न लेकर एकतरफा फैसला

मंडी जिला मुख्यालय के सेरी चांदनी पर प्रस्तावित हवाई अड्डे के विरोध में धरना-प्रदर्शन किया.

मंडी जिला मुख्यालय के सेरी चांदनी पर प्रस्तावित हवाई अड्डे के विरोध में धरना-प्रदर्शन किया.

Mandi Proposed Airport Protest: बल्ह जमीन बहुत ही उपजाऊ है और एक वर्ष में लगभग 400 करोड रुपए आमदनी टमाटर की खेती से होती है. उन्होंने कहा कि एक ओर स्वयं मुख्यमंत्री मान रहे हैं कि बल्ह कि जमीन बहुत उपजाऊ है और इसे मिनी पंजाब कहा जाता है.

अधिक पढ़ें ...

मंडी. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के ड्रीम प्रोजेक्ट बल्ह में प्रस्तावित हवाई अड्डे का विरोध लगातार जारी है. शुक्रवार को भी बल्ह बचाओ संघर्ष समिति व किसान संगठनों ने संयुक्त रूप से मंडी जिला मुख्यालय के सेरी चांदनी पर प्रस्तावित हवाई अड्डे के विरोध में धरना-प्रदर्शन किया.

इसके एयरपोर्ट के विरोध में संघर्ष समिति ने उपायुक्त मंडी अरिंदम चौधरी के माध्यम से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को एक ज्ञापन भी भेजा. समिति ने मांग उठाई है कि प्रदेश के सीएम का ड्रीम प्रोजेक्ट बल्ह की उपजाउ जमीन के बदले किसी अन्य स्थान पर बनाया जाए.

बल्ह बचाओ किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष जोगिन्दर वालिया ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पिछले 4 वर्षों से किसानों से बात तक नहीं कर रहे है और किसान सीएम से पूछना चाहते हैं कि बल्ह की उपजाऊ भूमि में ही हवाई अड्डे का निर्माण क्यों किया जा रहा है? उन्होंने कहा कि बल्ह में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनाए जाने से यहां के लगभग 2500 परिवार प्रभावित हो रहे हैं, जिनकी आबादी 12000 से अधिक है. उन्होंने कहा कि हवाई अड्डे की वजह से किसान भूमिहीन व विस्थापित हो जायेंगे और बल्ह क्षेत्र का नामोनिशान ही मिट जायेगा.

करोड़ों रुपये डूब जाएंगे
बल्ह बचाओ संघर्ष समिति के सचिव नंदलाल वर्मा ने कहा कि बल्ह जमीन बहुत ही उपजाऊ है और एक वर्ष में लगभग 400 करोड रुपए आमदनी टमाटर की खेती से होती है. उन्होंने कहा कि एक ओर स्वयं मुख्यमंत्री मान रहे हैं कि बल्ह कि जमीन बहुत उपजाऊ है और इसे मिनी पंजाब कहा जाता है, वहीं दूसरी तरफ हैरानी इस बात कि है कि मुख्यमंत्री बल्ह के किसानों को विश्वास में न लेकर एकतरफा चल रहे हैं. उन्होंने कहा कि बल्ह के किसान अपनी उपजाऊ जमीन किसी भी हालात में नहीं देना चाहते और मुख्यमंत्री अपनी जिद पर अड़े अड़े हुए हैं. उन्होंने चेतावनी दी है कि प्रस्तावित एयरपोर्ट को गैर उपजाऊ जमीन पर बनाया जाए नहीं तो सीएम जयराम ठाकुर को आने वाले दिनों में इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा.

Tags: Airport, Himachal pradesh, Mandi news, Shimla police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर