एचआरटीसी तकनीकी कर्मचारी संगठन ने दी आंदोलन तेज करने की धमकी

एचआरटीसी तकनीकी कर्मचारी संगठन ने अपनी मांगों को लेकर मंगलवार को विरोध प्रदर्शन किया और काला बिल्ला लगाकर कार किया.

Nitesh Saini | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 24, 2019, 11:14 AM IST
Nitesh Saini
Nitesh Saini | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 24, 2019, 11:14 AM IST
हिमाचल प्रदेश पथ परिवहन निगम ( एचआरटीसी) के तकनीकी कर्मचारी संगठन सुंदरनगर ने अपनी मांगों लेकर मंगलवार को गेट मीटिंग करके रोष प्रकट किया. इस दौरान पीस मील कर्मियों ने परिवहन विभाग और प्रदेश सरकार के रवैये से नाराज होकर जमकर नारेबाजी भी की. काले बिल्ले लगाकर काम कर रहे पीस मील कर्मचारियों ने सरकार और विभाग को चेताया है कि अगर शीघ्र वार्ता के लिए नहीं बुलाया जाता है तो आंदोलन और तेज किया जाएगा.

हिमाचल परिवहन तकनीकी कर्मचारी संगठन के सदस्यों ने आंदोलन तेज करने की धमकी दी


टूल डाउन हड़ताल की दी धमकी

प्रधान घनश्याम ठाकुर ने कहा कि परिवहन प्रबंधन को चेताया कि अगर एक सप्ताह के अंदर उन्हें वार्ता के लिए नहीं बुलाया जाता तो मजबूरन मुख्यालय निदेशक का घेराव और टूल डाउन हड़ताल का रास्ता अपनाना पड़ेगा. उन्होंने मांग की कि सभी पीस मील कर्मचारियों को एक मुश्त अनुबंध में लाया जाए. प्रधान ने बताया कि भर्ती व पदोन्नति नियमों का संशोधन करने बारे में लंबे समय से निर्णय नहीं लिया गया है. हालांकि बहुत सारे पीस मील कर्मचारियों को 2017 से पहले अनुबंध पर लाया जा चुका है. उसके बाद अवधि पूरी कर चुके पीस मेल कर्मचारियों के बारे में अनिर्णय की स्थिति बनी हुई है.

संगठन पिछले कई सालों से पीस मील वर्कर्स को अनुबंध के दायरे में लाने की मांग की जा रही है. इसके लिए संगठन कई बार परिवहन प्रशासन और प्रदेश सरकार को ज्ञापन सौंपे चुके है. इसके बाद निगम ने चार और पांच साल पूरे कर चुके पीस मील वर्कर्स के लिए नीति बनाई. जिसके आधार पर सैकड़ों पीस मील वर्कर्स को अनुबंध में लाया गया. इसके बाद सैंकड़ों पीस मील वर्कर्स तीन साल अनुबंध अवधि पूर्ण करने के बाद नियमित किया गया. अब वर्तमान में सात और आठ साल की अवधि पूर्ण कर चुके पीस मील वर्कर्स को अभी तक अनुबंध में नहीं लाया गया. विरोध प्रदर्शन में रमेश कुमार, सुखदेव, अजय, रामलाल, नारायण, विजय कुमार, कर्म चंद, दीपक, दलीप, सुनील, धर्म सिंह, राकेश, कुशल, शशि, रूप सिंह, रूपलाल, विनय, प्रकाश, पितांबर, लक्की उपस्थित रहे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 24, 2019, 9:06 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...