होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

प्रदूषण फैला रही HRTC वर्कशाप की बिजली काटी, थम गए ‘राइड विद प्राइड’ के पहिये

प्रदूषण फैला रही HRTC वर्कशाप की बिजली काटी, थम गए ‘राइड विद प्राइड’ के पहिये

सांकेतिक तस्वीर.

सांकेतिक तस्वीर.

इस कारण से न केवल एचआरटीसी के कई जरूरी काम प्रभावित हुई, बल्कि इन इलेक्ट्रिक बसों की चार्जिंग भी नहीं हो पा रही है और यह सेवा बंद हो गई है.

    हिमाचल प्रदेश के मंडी शहर में बीते कुछ समय से चल रही मिनी इलेक्ट्रिक टैक्सी सेवा ठप हो जाने से शहर के जरूरी स्थलों व साथ लगते क्षेत्रों के लोगों को मिल रही सस्ती परिवहन सेवा बंद हो गई है.

    इससे लोग परेशानी में हैं और उन्हें बस स्टैंड, अस्पताल, सौली खड्ड, बिंदराबणी, खलियार समेत अन्य स्थानों पर जाने के लिए या तो मीलों पैदल चलना पड़ रहा है या फिर ऑटो की महंगी सेवा लेनी पड़ रही है.

    एचआरटीसी ने कुछ साल पहले शहरी क्षेत्र में मुद्रिका की तरह सेवा देने के लिए टैक्सियां ’’राइड विद प्राइड’’ के नाम से चलाई थी, जिसका किराया महज दस रुपए प्रति सवारी रखा गया था. लोगों के लिए यह सेवाएं बहुत ही उपयोगी साबित हो रही थी, मगर अब अचानक बंद हो जाने से रोजाना इनका इस्तेमाल करने वालों की परेशानी बढ़ गई है.

    पता चला है कि यह सेवाएं इस कारण से ठप हुई हैं क्योंकि इनकी चार्जिंग नहीं हो पा रही है. इनके लिए सौली खड्ड स्थित एचआरटीसी की वर्कशाप में चार्जिंग स्टेशन बनाया गया था, जिसकी कुछ दिन पहले हिमाचल प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बिजली काट दी.

    बताते हैं कि एचआरटीसी की वर्कशाप से निकलने वाली गंदगी नेशनल हाइवे पर सालों से बह रही है, जिसे रोकने के लिए प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने कई बार एचआरटीसी के प्रबंधन को लिखा मगर जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड की टीम ने मौका पर आकर कार्रवाई करते हुए वर्कशाप की लाइट काट दी.

    इस कारण से न केवल एचआरटीसी के कई जरूरी काम प्रभावित हुई, बल्कि इन इलेक्ट्रिक बसों की चार्जिंग भी नहीं हो पा रही है और यह सेवा बंद हो गई है.

    ये बोले अधिकारी
    एचआरटीसी मंडी के क्षेत्रीय प्रबंधक गोपाल शर्मा ने बताया कि प्रदूषण संबंधी मामला काफी पुराना है. उन्होंने तो कुछ ही दिन पहले कार्रभार संभाला है, वह इसे सुलझाने का प्रयास कर रहे हैं. उम्मीद है कि दो तीन दिन में बिजली बहाल हो जाएगी और फिर राइड विद प्राइड की सेवा भी सुचारू हो जाएगी.

    Tags: Himachal pradesh, HRTC, Mandi, Mandi news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर