महेंद्र सिंह ठाकुर से बचकर रहें सीएम, इन्होंने ही धूमल को डुबाया था: अनिल शर्मा

अनिल शर्मा ने मंडी में न्यूज18 संवाददाता विरेंद्र भारद्वाज को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा कि आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर सीएम जयराम ठाकुर के सलाहकार बने बैठे हैं. उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल भी इन्हीं कारण डूबे थे.

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: April 15, 2019, 1:14 PM IST
महेंद्र सिंह ठाकुर से बचकर रहें सीएम, इन्होंने ही धूमल को डुबाया था: अनिल शर्मा
अनिल शर्मा, विधायक
Virender Bhardwaj
Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: April 15, 2019, 1:14 PM IST
हिमाचल सरकार से अलग हुए पूर्व मंत्री अनिल शर्मा ने न्यूज18 हिमाचल पर उस नाम का खुलासा किया है, जिसका कुछ दिनों पहले उन्होंने इशारों ही इशारों में जिक्र किया था और सीएम को नसीहत दे डाली थी. अनिल शर्मा ने मंडी में न्यूज18 संवाददाता को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा कि आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर सीएम जयराम ठाकुर के सलाहकार बने बैठे हैं. उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल भी इन्हीं कारण डूबे थे. अनिल शर्मा ने स्पष्ट किया कि वह विधायक पद से इस्तीफा नहीं देंगे और एक विधायक के रूप में जनता के लिए काम करते रहेंगे. उन्होंने कहा कि अगर भाजपा को इनसे कोई परेशानी है तो भाजपा उन्हें पार्टी से बाहर निकाल सकती है और उन्हें कोई आपति नहीं होगी.

अनिल शर्मा ने कहा कि जनता ने उन्हें पांच वर्षों के लिए चुनकर भेजा है और उस नाते वह जनता की सेवा करते रहेंगे. अनिल शर्मा ने कहा कि कुछ दिन पहले उनके चुनाव क्षेत्र के साईगलू में जो भाजपा की जनसभा हुई थी उसमें आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने उनके बारे में झूठी बातें कही थी.

उन्होंने कहा कि महेंद्र सिंह ठाकुर ने पीडब्ल्यूडी मंत्री रहते हुए कभी भी दो हजार लोगों को रोजगार देने की बात उनसे नहीं की. इसके उलट उन्होंने सिर्फ धर्मपुर के ही लोगों को रोजगार दिया और तो और तत्कालीन सीएम प्रेम कुमार धूमल के लोगों को भी महेंद्र सिंह ठाकुर ने कोई काम नहीं दिया.

उन्होंने कहा कि यह वही सलाहकार हैं जो कभी धूमल जी के करीबी थी और आज जयराम ठाकुर के करीबी बन बैठे हैं. उन्होंने कहा कि इन्हें सिर्फ सत्ता चाहिए होती है. अनिल शर्मा ने कहा कि सीएम जयराम ठाकुर उनपर पर्दे के पीछे काम करने का गलत आरोप लगा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि वह घर पर ही रहते हैं और किसी भी प्रकार से अपने बेटे के प्रचार के लिए काम नहीं कर रहे हैं. यदि सीएम साहब को यकीन होता तो उनके साथ सीआईडी को तैनात कर दें. उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग अब ऐसा चाह रहे हैं कि अनिल शर्मा घर पर भी न रहें.

यह भी पढ़ें: आढ़तियों पर किसानों-बागवानों के 100 करोड़ से ज्यादा बकाया, आंदोलन की तैयारी में जुटे

  उत्तराखंड के टिमली रेंज से हिमाचल पुलिस ने वन तस्कर को पकड़ा, चार फरार
Loading...

'अनिल शर्मा का दुर्भाग्य, कभी पिता तो कभी बेटे के लिए करना पड़ा सैक्रिफाइस'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 15, 2019, 1:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...