BJP के सतपाल सत्ती ने दिया विवादित बयान, चुड़ैल से कर डाली कांग्रेस की तुलना

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतपाल ने बहुत से कांग्रेसियों ने भी भाजपा को वोट दिया है, लेकिन कुछ ऐसे लोग हैं जिन्हें कांग्रेस चुड़ैल की तरह चिपक गई है और छूटने का नाम नहीं ले रही है.

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 5, 2019, 8:17 PM IST
Virender Bhardwaj
Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 5, 2019, 8:17 PM IST
लोकसभा चुनावों के दौरान अपने बयानों के कारण सुर्खियां बटोरने वाले भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती की तीखी टिप्पणियों का दौर अभी खत्म नहीं हुआ है. भाजपा की आभार रैली में सतपाल सत्ती ने फिर से विवादित बोल बोलकर सुर्खियां बटोर लीं. उन्होंने कांग्रेस पार्टी की तुलना चुड़ैल से कर डाली. सत्ती ने कहा कि लोकसभा चुनावों में बहुत से कांग्रेसियों ने भी भाजपा को वोट दिया है, लेकिन कुछ ऐसे लोग हैं जिन्हें कांग्रेस चुड़ैल की तरह चिपक गई है और छूटने का नाम नहीं ले रही है.

सत्ती ने कहा कि ऐसे लोगों का जहां मर्जी इलाज करवा लो, लेकिन कोई लाभ नहीं मिलने वाला है. उन्होंने कांग्रेसियों को चांडाल चौकड़ी भी कहा. सत्ती ने कहा कि भाजपा विकास के दम पर जीती है और कांग्रेस की चांडाल चौकड़ी ऐसे ही जीतने के बारे में सोच रही थी.

माई के लाल ने सिर्फ 8 सीटें बढ़ाई

सतपाल सत्ती ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि माई के लाल ने सिर्फ 8 सीटें बढ़ाई और पीठ ऐसे थपथपाई जा रही है, जैसे सरकार बना ली हो. उन्होंने कहा कि आज किसी कांग्रेसी में गांधी परिवार के खिलाफ बोलने की हिम्मत नहीं और सभी कांग्रेसी गांधी परिवार के गुलाम हो गए हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस परिवारवाद पर चलती है और राजनीति को बाप की जागीर समझती है. शिमला सीट को भी कांग्रेस ऐसे समझती थी जैसे बाप दादा ने रजिस्ट्री करवा दी हो.

केजरीवाल और सुखराम पर भी तंज कसे

सत्ती ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम पर भी जमकर तंज कसे. सत्ती ने अरविंद केजरीवाल को बेईमान और ड्रामेबाज बताया. उन्होंने कहा कि मोदी और शाह का बस चले तो दो दिन में केजरीवाल को घर बैठा दें. वहीं उन्होंने पंडित सुखराम को मंडी के सेरी मंच पर हवन यज्ञ करवाने की सलाह भी दी.

उन्होंने कहा कि अपने बूथ पर पिछड़ने के बाद भी इस परिवार को समझ आ जानी चाहिए. अच्छा होगा कि वीरभद्र के पास रोने के बजाए हवन करवाकर मंडी की जनता को भोजन करवाते और उनके पास आकर रोते.
यह भी पढ़ें: VIDEO: जंगल में लगी आग, गांव वालों ने जानवरों को ऐसे बचाया 

भूकंप से पैदा हो रही है पहाड़ों में पानी की समस्या
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...