लाइव टीवी

मंडी: सराज के जंगल में पेड़ों पर माफिया ने चलाई कुल्हाड़ी, दूसरे राज्यों से जुड़े तार!
Mandi News in Hindi

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: January 28, 2020, 10:50 AM IST
मंडी: सराज के जंगल में पेड़ों पर माफिया ने चलाई कुल्हाड़ी, दूसरे राज्यों से जुड़े तार!
मंडी में सराज में पेड़ों पर चली कुल्हाड़ी.

डीएफओ नाचन तीर्थराज धीमान ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि बखारी के जंगल में कुछ लोगों ने खनोर तथा मैपल के पेडों को क्षति पहुंचाई है. जो घटना स्थल से फरार पाए गए हैं.

  • Share this:
गोहर (मंडी.) हिमाचल प्रदेश के मंडी (Mandi) जिले के वन मंडल नाचन के अंतर्गत सराज के जंगल में खनोर और मैपल के पेड़ों की तस्करी (Tree Cutting) करने का मामला सामने आया है. दुर्लभ प्रजाति के पेड़ों की लकड़ी (Woods) की तस्करी को लेकर तस्कर माफियों (Forest Mafia) ने लंबाथाच के बखारी के जंगल में गोरख धंधे को अंजाम दिया है.

हालांकि, स्थानीय लोगों के आगमन की भनक लगते ही तस्कर रात के अंधरे का फायदा लेते हुए मौके से फरार होने में कामयाब रहे. लेकिन तस्करी के लिए इस्तेमाल होने वाले कटर, आरी, कुल्हाड़ी, पेट्रोल, बैग मौके पर ही छोड़ गए. जंगल से नए तरह के गोरख धंधे के मामले ने वन विभाग की नींद हराम कर दी है. विभाग ने बरामद असले को जब्तकर मामले की छानबीन शुरू कर दी है.

सराज के जंगल बेशकीमती पेड़ों के लिए विख्यात
भौगोलिक दृष्टि से सराज के जंगल बेशकीमती पेड़ों के लिए विख्यात है. पिछले कुछ साल में तस्करों की ऐसी नजर पड़ी है, कि उन्होंने अब खनोर और मैपल के पुराने पेड़ों को निशाना बना कर गोरख धंधे की नई तरकीब खोज ली है. प्रथम दृष्टया मामले में लकड़ी की तस्करी के तार बाहरी राज्यों असम,



उड़ीसा से जुड़ने की आशंका जताई जा रही हैस जहां इन लकड़ियों का महंगी सामग्रियों के इस्तेमाल में होने का अनुमान जताया जा रहा है.

मंडी में सराज वैली में अवैध कटान.
मंडी में सराज वैली में अवैध कटान.


ऐसे सामने आया मामला
मामला तब उजागर हुआ जब बीते शनिवार देर रात साढ़े बारह बजे बखारी के जंगल के बीच तस्कर कार्रवाई को अंजाम दे रहे थे. ग्रामीणों ने आरी की आवाज सुनते ही बीट गार्ड बलबंत सिंह को सूचना दी कि जंगल मे अवैध कटान हो रहा है. बीट गार्ड ने सूचना मिलते ही ग्रामीणों के साथ रात को दबिश दी. इससे पहले की बीट गार्ड मौके पर पहुंचता तस्कर घटना स्थल से फरार हो गए.

यह बोले डीएफओ
डीएफओ नाचन तीर्थराज धीमान ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि बखारी के जंगल में कुछ लोगों ने खनोर तथा मैपल के पेडों को क्षति पहुंचाई है. जो घटना स्थल से फरार पाए गए हैं. वन विभाग ने मौके से तीन बड़े बैग, तीन पैट्रोल की बोतले, कुल्हाड़ी तथा आरी समेत 12 लकड़ी के पीस बरामद कर अपने कब्जे में ले लिए हैं. उन्होंने बताया कि वन विभाग की टीम जंगल को छान रही है कि कहीं 3 पेड़ों से अधिक अन्य को भी नुकसान तो नहीं पहुंचाया गया है. रिपोर्ट के बाद पुलिस में मामला दर्ज किया जाएगा. विभाग मामले की छानबीन में जुट गया है.

ये भी पढ़ें: हिमाचल में मौसम: शिमला और मनाली में ताजा बर्फबारी, मैदानों में बारिश

चिट्टा तस्करी मामले में एक और गिरफ़्तारी, मास्टरमाइंड युवती गिरफ्तार

हिमाचल में डायन बताकर बुजुर्ग से क्रूरता केस में कोर्ट में पेश किए चालान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 10:50 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर