होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /ज्योति की संदिग्ध मौत: लोगों का गुस्सा फूटा, थाने का घेराव, पठानकोट-मंडी हाईवे जाम

ज्योति की संदिग्ध मौत: लोगों का गुस्सा फूटा, थाने का घेराव, पठानकोट-मंडी हाईवे जाम

बड़ी संख्या में लोग सड़क पर बैठ गए और नारेबाजी की. मौके पर तनाव को देख पुलिस बल भी मौजूद रहा.

बड़ी संख्या में लोग सड़क पर बैठ गए और नारेबाजी की. मौके पर तनाव को देख पुलिस बल भी मौजूद रहा.

Joginder Nagar Joyti death case: ज्योति के लिए न्याय की मांग के लिए निकाली गई इस रैली में बड़ी संख्या में युवा वर्ग पहु ...अधिक पढ़ें

मंडी. हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में जोगिंदनगर में 23 साल की ज्योति की सदिंग्ध मौत मामले में लोगों का गुस्सा फूटा है. बड़ी संख्या में ज्योति के मायके वालों के अलावा हराबाग के ग्रामीण सड़कों पर उतरे हैं. लोगों ने इस दौरान हाईवे जाम कर दिया है. साथ ही जोगिंद्रनगर थाने का घेराव किया है. लोगों ने जोगिंद्र नगर के मुख्य चौक पर धरना दिया है. इस दौरान बड़ी संख्या में लोग सड़क पर बैठ गए और नारेबाजी की. मौके पर तनाव को देख पुलिस बल भी मौजूद रहा. इस दौरन हाईवे और थाना चौक पूरी तरह जाम रहा. पुलिस के साथ हल्की धक्का मुक्की भी हुई है. इस दौरान हाईवे पर वाहनों की लंबी कतारें लग गईंं.

शनिवार  को हराबाग से जोगिन्दरनगर शहर तक कांग्रेस नेता जीवन ठाकुर अनिल कुमार के  दर्जनों विद्यार्थियों ने ज्योति की संदिग्ध मौत पर उच स्तरीय जांच की मांग की और मामले से जुड़े अन्य आरोपियों को भी सलाखों के पीछे धकेलने की जोरदार मांग उठाई.  साथ ही ज्योति की हत्या और आत्महत्या से जुड़ी मिस्टरी पर भी सवाल उठाए मामले की पूरी सच्चाई जगजाहिर करने के लिए  सीबीआई जांच की मांग की.

News18 Hindi

जानकारी के अनुसार, जिस स्थान पर शव बरामद हुआ है, वह स्थान गुडूही गांव से 8 किलोमीटर दूर है.

स्टूडेंट बड़ी संख्या पहुंचे हैं

ज्योति के लिए न्याय की मांग के लिए निकाली गई इस रैली में बड़ी संख्या में युवा वर्ग पहुंचा है. ज्योति को न्याय दो, वी वॉन्ट जस्टिस, पुलिस प्रशासन के खिलाफ लोग नारेबाजी कर रहे हैं. बता दें कि ज्योति के परिजनों ने कहना है कि उनकी बेटी की हत्या हुई है. उसे मारकर जंगल में फैंका गया है. घटना के बाद से पुलिस की कार्रयप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं. क्योंकि एक माह के बाद भी पुलिस लापता ज्याति को ढूंढ नहीं पाई थी.

News18 Hindi

ज्योति के लिए न्याय की मांग के लिए निकाली गई इस रैली में बड़ी संख्या में युवा वर्ग पहुंचा है.

क्या है मामला

जोगिंदर नगर मंडल के तहत पड़ने वाले गडूही गांव की 23 वर्षीय ज्योति 8 अगस्त को लापता हो गई थी. एक माह बाद घर से करीब आठ किमी दूर उसका शव जंगल में गली सड़ी हालात में मिला था. ज्योति का सिर मौके से करीब 100 मीटर दूर मिला था. बुधवार को ज्याति का अंतिम संस्कार किया गया था. शव संदिग्ध अवस्था में बरामद होने के बाद मायके वालों ने ससुराल पक्ष पर ज्योति को मारने के आरोप लगाए हैं. हालांकि, पुलिस ने इस मामले में ज्योति के पति शिव कुमार को धारा 306 के तहत गिरफ्तार कर लिया था. जिस दिन ज्योति घर से लापता हुई थी, उस दिन उसकी घरवालों से लड़ाई हुई थी.

Tags: Himachal Police, Mandi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें