जानिए क्यों, दो बुजुर्ग मित्रों ने गढ़ा यह नारा-'आफ्टर रिटायरमेंट, फोकस ऑन एन्वॉयरमेंट'

आफ्टर रिटायरमेंट, फोकस ऑन एन्वॉयरमेंट. यह अभियान मंडी के दो रिटायर्ड कर्मचारियों ने छेड़ रखा है.

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 21, 2019, 11:12 AM IST
जानिए क्यों, दो बुजुर्ग मित्रों ने गढ़ा यह नारा-'आफ्टर रिटायरमेंट, फोकस ऑन एन्वॉयरमेंट'
मंडी के दो बुजुर्ग मित्र ने रिटायरमेंट के बाद पौधरोपण का अभियान छेड़ रखा है.
Virender Bhardwaj
Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 21, 2019, 11:12 AM IST
आफ्टर रिटायरमेंट, फोकस ऑन एन्वॉयरमेंट. यह अभियान मंडी के दो रिटायर्ड कर्मचारियों ने छेड़ रखा है. रिटायरमेंट के बाद यह दो कर्मचारी मित्र न सिर्फ पौधारोपण करके पर्यावरण संरक्षण का संदेश दे रहे हैं बल्कि खुद के द्वारा रोपे गए पौधों की पूरी देखभाल भी कर रहे हैं. 69 वर्षीय रोशन लाल सहकारिता विभाग से रिटायर हुए हैं जबकि 75 वर्षीय इंद्र देव शर्मा न्याययिक सेवा से. दोनों ही मंडी शहर के पुरानी मंडी वॉर्ड के रहने वाले हैं. रिटायरमेंट के बाद दोनों मित्र रोज सुबह मंडी-स्कोर सड़क पर सुबह की सैर के लिए निकल जाते थे. वर्ष 2008 में इन्होंने रास्ते में एक पेड़ को क्षतिग्रस्त हालत में देखा तो पेड़ का दर्द समझते हुए उसके संरक्षण का जिम्मा उठाया. इसके बाद दोनों के मन में पेड़ लगाने की भावना जागृत हुई. फिर क्या था, दोनों ही मित्र सुबह की सैर के लिए निकलते और इसी सड़क के किनारे पौधे रोपने में जुट गए.

चार दर्जन पौधे लगा चुके हैं दोनों मित्र

environment-पर्यावरण
पर्यावरण संरक्षण में जुटे 69 वर्षीय रोशन लाल सहकारिता विभाग से रिटायर हुए हैं जबकि 75 वर्षीय इंद्र देव शर्मा न्याययिक सेवा से.


रोशन लाल शर्मा और इंद्र देव शर्मा बताते हैं कि अभी तक वह करीब चार दर्जन पौधे लगा चुके हैं. बड़ी बात यह है कि यह सिर्फ पौधों को रोपते ही नहीं बल्कि उनका अस्तित्व बचा रह जाए, इसका भी वे खुद ही ख्याल रखते हैं. पौधे की सही ढंग से ग्रोथ हो और उसे समय-समय पर पानी मिलता रहे, इस बात का पूरा ख्याल रखा जाता है. कोई जानवर या शरारती तत्व पौधे को नुकसान न पहुंचा दे, इसलिए पौधे के चारों तरफ बाड़बंदी की जाती है.

पर्यावरण संरक्षण में दे रहे हैं अपना योगदान

यही कारण है कि इनके हाथों से लगाए पौधे आज वृक्ष बनने की तरफ अग्रसर हैं, जो पर्यावरण संरक्षण में अपना अहम योगदान दे रहे हैं. रोशन लाल और इंद्र देव ने सभी से आह्वान किया है कि पौधारोपण के कार्य को सिर्फ समय विशेष में ही न किया जाए बल्कि हर समय इस तरफ ध्यान दिया जाए. वहीं लगाए गए पौधों की देखभाल भी जरूर की जाए, क्योंकि तभी पौधारोपण का कार्य सफल हो सकता है.

लोगों को इनसे मिल रही है प्रेरणा
Loading...

इन दोनों के इस प्रयास को देखकर बाकी लोगों को भी प्रेरणा मिलने लगी है. लोग अब इनके पास पौधे खुद ही पहुंचाने लग गए हैं. धीरे-धीरे यह प्रयास गति पकड़ रहा है. लोग औषधीय और अन्य प्रकार के फलदार पौधे इन्हें देकर इस कार्य में अपना सहयोग दे रहे हैं. स्थानीय निवासी गिरजा शंकर गौड ने बताया कि रोशन लाल और इंद्र देव शर्मा जो कार्य कर रहे हैं उससे सभी को प्रेरणा मिल रही है.

यह भी पढ़ें: पूर्व स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा के गृह जिले में चार लाख की आबादी पर है एक लेडीज डॉक्टर

 धर्मशाला के भागसू वॉटरफॉल में लैंडस्लाइड, आठ माह की बच्ची की मौत, सात घायल 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 21, 2019, 11:12 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...